हथौड़ा मोमबत्ती पैटर्न | Hammer Candlestick Pattern in Hindi

हथौड़ा मोमबत्ती पैटर्न, Hammer candlestick pattern in hindi, Hammer Candlestick Bearish Reversal Pattern पेपर अम्ब्रेला एक ऐसा सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न है जो एक ट्रेडर को बिलकुल आने वाले सही trend के बारे में संकेत देता है. लेकिन सबसे जरुरी यह होता है की आपको पता होना चाहिए की hammer candle चार्ट कहा बनता है और किस तरह का दिखता है.

इसमें एक ही पेपर अम्ब्रेला होता है जिसमे 2 तरीके से trend reversal pattern होता है hanging man और hammer. हैंगिंग मैन इसका मतलब मंदी (बेयरिश) का समय चल रहा है और hammer bulish मतलब तेजी का समय चल रहा है. इस पेपर अंब्रेला काफी लम्बा shadow होता है और upper body छोटी होती है. 

मार्किट के Up और Down दोनों में मुनाफा

कॉल/पुट आप्शन खरीदने से पहले 2 बातें

Hammer candlestick Pattern In Hindi
Hammer candlestick Pattern In Hindi

यदि पेपर अंब्रेला चार्ट में निचे से बन रहा है तो उसे hammer कहते है. और यदि पेपर अंब्रेला चार्ट में उपर से बन रहा है तो उसे हैंगिंग मैन कहते है. पेपर अम्ब्रेला की एक बहुत बड़ी पहचान होती है इसमें (lower shadow) निचे की शैडो real body से 2 गुनी बड़ी होती है. इसे आप Shadow to Real Body Ratio बोल सकते है.

Example-  किसी share का Open = 200, High = 203, Low = 194, Close = 202 (bulish trend) इस तरह से real body की लम्बाई Close – Open 202-200 = 2 और lower shadow की लम्बाई Open 200 – Low – 194 (200 – 194) = 6 होगी. अब आप समझ चुके होंगे की lower shadow की लम्बाई real body के 2 गुने से ज्यादा है. यदि यह स्थति होती है तो हम मान सकते है की ये पेपर अम्ब्रेला है.

Hammer Candlestick Bearish Reversal Pattern in Hindi ,  hammer candlestick pattern in hindi

हैमर का बनना –  Hammer Candlestick Bullish Pattern

बुलिश हैमर कैंडल काफी महत्वपूर्ण कैंडल होता है जो की निचे की तरफ बनता है. जिस दिन hammer बनेगा उस दिन एक छोटी real body और अधिक लम्बी shadow बनेगी. हैमर कैंडल में जितनी बड़ी shadow होगी उतना ही bulish pattern बनता है. जैसा की आप चार्ट में देख सकते है मंदी बाले berish निचे की तरफ बने है.

Hammer candlestick Pattern In Hindi
Hammer candlestick Pattern In Hindi

ध्यान से देखिये नीले hammer कैंडल में काफी छोटा upper shadow है. Hammer किसी भी रंग का होता है इससे कोई मतलब होता है सबसे महत्वपूर्ण यह होता है की hammer की “ शैडो टू रियल बॉडी रेश्यो” है या नहीं! नीले रंग की कैंडल पर लोगों का ज्यादा भरोसा होता है. एक सबसे अच्छे hammer कैंडल तब बनता है जब इससे पहले का trend निचे का होना चाहिए. 

Hammer Candlestick Bearish Reversal Pattern,  hammer candlesick pattern in hindi)

हैमर कैंडल बनने के पीछे का राज क्या होता है :

  1. जब मार्किट पर बेयर्स का कब्ज़ा होता है तो मार्किट निचे की तरफ चल रहा होता है.
  2. 2. जब मार्किट निचे गिर रहा होता है तो मार्किट प्रतेक पिछले दिन से निचे ओपन होता है और फिर उसके बाद में एक नया low बना कर बंद होता है.
  3. जिस किसी दिन एक hammer बनता है तो उस दिन भी मार्किट नीचे ही ट्रेड करता है और एक नया low बनाता है.
  4. हालांकि low पर कुछ खरीदारी होती है जिसके कारण कीमत थोड़ी बढ़ जाती है फिर share उस दिन के high पर जाकर बंद होता है.
  5. जिस दिन hammer कैंडल बनता है उस दिन कीमतों में काफी उतार चढ़ाव होता है क्योकि bulish कीमतों को और निचे गिरने से रोकने की पूरी कोशिश करते है और वे सफल भी होते है.
  6. बुल्स की कोशिश हमेशा मार्किट के मूड को सुधारने में मदद करती है और ऐसे में आपको खरीदारी करनी चाहिए.

हैमर के मुताबिक हमें सौदे किस तरह से करने चाहिए?

  1. हैमर बनने पर वह संकेत देता है.
  2. इसके बाद में तो ट्रेडर पर निर्भर करता है की वह मार्किट में कब इंट्री ले और कितना रिस्क ले सकता है. यदि स्मार्ट ट्रेडर hammer बनने बाले दिन ही stock खरीद सकता है और इस बात का ध्यान रखे की hammer किसी भी रंग का हो सकता है. नियम का उल्लंघन ना करते हुए, यदि ट्रेडर थोड़ा कम रिस्क लेना और रिस्क से बचना चाहता है तो उसे अगले दिन कैंडल का रंग नीला/हरा दिख रहा होना चाहिए.
  3. रिस्क लेने बाला ट्रेडर उसी दिन hammer के बनने के बाद 3:20 पर ये देखेगा की open और close बराबर हो जिससे वह निश्चित हो सके कि हैमर बन चुका है.
  4. 2. Open और Close एक बराबर हो या उनमे 2% का अंतर हो.
  5. हैमर में लोअर शैडो की लंबाई रियल बॉडी की लंबाई से 2 दोगुनी अधिक होनी चाहिए.
  6. यदि ये दोनों शर्तें पूरी हो जाती है तो रिस्क लेने बाला ट्रेडर सौदा कर सकता है.

2 .जो ट्रेडर रिस्क से बचना चाहता है तो वो अगले दिन OHLC पर नजर डालेगा और देखेगा की कैंडल नीले रंग का है तो सौदा करेगा.

  1. जो भी hammer के low की कीमत होती है वह ट्रेडर का stop loss होता है. जैसा की आप नीचे का चार्ट में देख सकते है. इसमें रिस्क लेने वाला और रिस्क से बचने वाला दोनों तरह के ट्रेडर्स को सौदे में फायदा होगा. ये Cipla Ltd का 15 मिनट का इंट्राडे चार्ट है.

 Hammer candlestick Pattern In Hindi

इसमें सौदे कैसे बनेंगे : Hammer Candlestick Pattern In Hindi

जो ट्रेडर रिस्क लेने के लिए तैयार है उसके लिए share खरीदने की कीमत – वो हैमर कैंडल पर ही 444 रुपये पर खरीदेगा.

और जो ट्रेडर रिस्क से बचना चाहते है उसके लिए अगले दिन का नीला कैंडल सही रहगा. इन दोनों तरह के ट्रेडर्स के लिए 441.50 hammer का low होगा. आप देख सकते उनको सौदे में कैसे मुनाफा मिला.

अब दूसरे चार्ट पर नजर डालते है यहाँ रिस्क से बचने वाला ट्रेडर होता है ” मजबूती में खरीदो और कमजोरी में बेचो ” इस नियम का फायदा पाता है.

Hammer candlestick Pattern In Hindi
Hammer candlestick Pattern In Hindi

यहां दोनों हैमर बनने के लिए उन नियमो और सर्तों का पालन किया गया है जो hammer के लिए जरुरी है.

  1. इससे पहले बाला trend निचे चल रहा होना जरुरी है.
  2. शैडो टू रियल बॉडी रेश्यो

पहले हैमर में देखे, इससे रिस्क से बचने बाला ट्रेडर नियम 1 का पालन करके घाटे में जाने से बच सकता है. लेकिन दूसरे हैमर के समय रिस्क लेने वाला और रिस्क से बचने वाला, दोनों ट्रेडर लालच में आकर वो ट्रेड ले सकते है.

क्या पता यहाँ उनका stock सुरु होए के बाद उपर ही नाही पंहुचा, फ्लैट बनकर टुटके निचे गिर गया है. और हमें पता आप मार्किट में तब तक रहते है जब तक की आपको target या stoploss पूरा नहीं हो जाता है. यदि आप सौदे में कोई वदलाव नहीं करते है तो ऐसे में नुक्सान तो उठाना ही होगा.

लेकिन ये तो खुद ही जान बुझ कर रिस्क लिया जाता है. इसके बाद मे एक और चार्ट है उसमें hammer बन रहा है. लेकिन ये hammer बनने से पहले बाली सर्तों को पूरा नहीं करते है.

Hammer Candlestick Bearish Reversal Pattern,  hammer candlestick pattern in hindi

Hammer candlestick Pattern In Hindi
Hammer candlestick Pattern In Hindi

इन्हें भी पढ़े –

Candlestick Chart In Hindi Pdf 2022

What is Technical Analysis in Hindi 

Intraday Trading में loss से कैसे बचे 

What is Stock Market in Hindi

लोगों दोवारा पूछे गय सवाल –

हैमर कैंडल बनने के बाद क्या करे?

एक सबसे अच्छे hammer कैंडल तब बनता है जब इससे पहले का trend निचे का होना चाहिए. जब भी trend निचे होगा तभी आपको स्टॉक खरीदना होता है.

हैमर कैंडल में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

इसके बाद में तो ट्रेडर पर निर्भर करता है की वह मार्किट में कब इंट्री ले और कितना रिस्क ले सकता है. हमने इस लेख में पूरी जानकरी दी …

हैमर कैंडल क्या संकेत देता है?

इनवर्टेड हैमर निचे आता है तो मार्किट गिर रहा होता है, इसकी ऊपर लम्बी बत्ती होती है जो bulish pattern बनने में बाधा डालता है. जब अभी आपको लगे की अब bulish hammer candle बनने बाला है तब मार्किट में पोजीशन ले.

हैमर कैंडल किस तरह बनता है?

बुलिश हैमर कैंडल काफी महत्वपूर्ण कैंडल होता है जो की निचे की तरफ बनता है. जिस दिन hammer बनेगा उस दिन एक छोटी real body और अधिक लम्बी shadow बनेगी. हैमर कैंडल में जितनी बड़ी shadow होगी उतना ही bulish pattern बनता है. जैसा की आप चार्ट में देख सकते है ….

हैमर कैंडल क्यों बनता है?

जब मार्किट पर बेयर्स का कब्ज़ा होता है तो मार्किट निचे की तरफ चल रहा होता है.
2. जब मार्किट निचे गिर रहा होता है तो मार्किट प्रतेक पिछले दिन से निचे ओपन होता है और फिर उसके बाद में एक नया low बना कर बंद होता है.

Leave a comment