सभी मोमबत्ती पैटर्न पीडीएफ 2022| Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi – Candlestic का उपयोग ट्रेडिंग pattern को समझने के लिए किया जाता है, यानि की मार्किट में एक खास तरह घटना घटित होती है जिससे हमें मार्किट मे बनने बाले trend का संकेत मिलता है जिसे हम pattern कहते है. टेक्निकल एनालिसिस के दोवारा ही मार्किट में सौदा तय करते है.

कोई पैटर्न बनते समय कई कैंडलस से पता चल जाता है की मार्किट किस तरफ जाने वाली है और कभी-कभी एक कैंडलस्टिक से भी पता चल जाता है. निचे हम आपको मल्टीपल कैंडलस्टिक पैटर्न, सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न के बारे में पूरी जानकारी देंगे. (Candlestick Chart In Hindi Pdf, Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi)

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi- कैंडलस्टिक के क्या नाम है?

  1. एन्गुफ्लिंग पैटर्न – (Engulfing Pattern)
  2. बुलिश एन्गुफ्लिंग – (Bulish Engulfing)
  3. बेरिश एन्गुल्फिंग – (Bearish Engulfing)
  4. हरामी – (Harami)
  5. बुलिश हरामी – (Bulish Harami)
  6. बेरिश हरामी – (Bearish Harami)
  7. पिएर्सिंग पैटर्न- (Piercing Pattern)
  8. डार्क क्लाउड कवर – (Dark Cloud cover)
  9. मोर्निंग स्टार – (Morning Star)
  10. इवनिंग स्टार – (Evening Star)

जो लोग share market में candlestic pattern को नहीं जानते वह लोग सोच रह होंगे की इन नामो का मतलब क्या है. लेकिन आपको नहीं पता की इनमे से कई नाम जापानी भाषा में है. ट्रेडर कैंडलस्टिक पैटर्न की मदद से ट्रेड योजनायें और एक नजरिया बनाते है. प्रतेक पैटर्न के योंनाओ में रिस्क भी 50% का होता है और साथ ही stop loss, entry के बारे में संकेत मिलते है.

कैंडलस्टिक से जुड़ी कुछ खास मान्यताएं –

अब हमे पैटर्न को जानना और समझना चाहिए उससे पहले आपको कुछ कांसेप्ट को अपने दिमाग में समझना जरुरी है. ये कांसेप्ट कैंडलस्टिक से सम्बंधित है. इन्हें अच्छे से समझे क्योकि आगे बार-बार बापस आयेंगे. ये कांसेप्ट थोड़े कठिन होते है इसिलए इन्हें समझने में थोड़ा समय लगेगा, लेकिन इनको हम विस्तार से समझेंगे. अभी से हम इनको थोड़ा समझ लेते है.

• मजबूती में खरीदें और कमजोरी में बेचें –

नीले/हरे रंग की कैंडल यानी बुलिश कैंडल मजबूती को दिखाती है और लाल रंग की कैंडल बेयरिश होती है यानी कमजोरी को दिखाती है. इसलिए जब भी आप share  ख़रीदे तब नीली/हरी कैंडिल होनी चाहिए और यदि share को बेचना है तब लाल कैंडल होनी चाहिए.

download

प्रतेक पैटर्न में बदलाव की गुंजाइश रखें-

इसका मतलब है की किसी भी pattern को आखं को मूंदकर ना माने. हो सकता है कि कोई पैटर्न बन रहा हो, लेकिन उसमे बदलाव की थोड़ी बहुत गुंजाइश होती है क्योकि मार्किट में वदलाव होते रहते है. आपको अपने दायरे में रहना है और साथ ही बदलाव के लिए हमेशा तैयार रहना होता है.

किसी भी पैटर्न के पहले के ट्रेंड को जरुर देखें-

यदि आप बुलिश pattern को देखते है तो इससे पहले बाले ट्रेंड को जाचं ले क्योकि वो बेयरिश होना बहुत जरुरी है. और यदि आप बेयरिश पैटर्न को देखतेहैं तो उसके पहले बाला पैटर्न बुलिश होना बहुत जरुरी है.

कुछ खास बातें – (Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi)

  1. इसके कांसेप्ट को थोड़ा modified किया है.
  2. कैंडलस्टिक पैटर्न 2 तरह के ही होते है – 1. सिंगल पैटर्न 2. मल्टीपल कैंडल पैटर्न.
  3. कैंडलस्टिक पैटर्न में 3 कांसेप्ट होते हैं.
  4. मजबूती में खरीदे और कमजोरी में बेचें
  5. पैटर्न को जांचें – परखें
  6. पिछले ट्रेंड को जरूर देखना है.

Candlestick Chart In Hindi Pdf- Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

जैसा की आपको नाम से ही पता लग रहा हो की ये कैंडलस्टिक pattern कैंडल से बनने वाला pattern है. इस pattern का निर्माण एक दिन के ट्रेडिंग एक्शन के आधार पर बनता है. सबसे ज्यादा मुनाफा single candlestic पैटर्न से होता है यदि आपने उस pattern को अच्छे से पहचान लिया और सौदा कर दिया तो आपको अच्छा मुनाफा होगा.

इस तरह का सौदे को करने के लिए सबसे जरुरी है कैंडल की लम्बाई कितनी है. क्योकि कैंडल की लम्बाई से पता चलता है की मार्किट में उस दिन कितनी खरीद-बिक्री हुई है. यदि कैंडल लम्बी है तो समझ लीजिये की उस दिन ज्यादा ट्रेडिंग नहीं हुई थी.

दिए गय निचे के चित्र में लंबे और छोटे बुलिश और बेयरिश कैंडल के बारे में समझाया गया है-

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi
Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

प्रतेक सौदे को कैंडलस्टिक की लंबाई के पैमाने पर नापना चाहिए. आपको अधिक छोटी कैंडल वाले सौदे से बचना ठीक होगा. इन सभी के बारे में आगे विस्तार से समझेंगे जब हम हर पैटर्न के बारे चर्चा करेंगे. (Candlestick Chart In Hindi Pdf, Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi)

What is Technical Analysis in Hindi 

मारूबोज़ू ( The Marubozu )

Marubozu सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न है जिसके बारे में जानना जरुरी है. जापानी भाषा में इसका मतलब “गंजा” होता है. ये दो प्रकार के होते है – बुलिश मारूबोज़ू और बेयरिश मारूबोज़ू. इसमें आपको 3 बाते याद रखनी है –

  1. मजबूती में खरीदे और कमजोरी में बेचें
  2. पैटर्न में थोड़ी बदलाव की गुंजाइश रहे.
  3. और पुराने ट्रेंड को देखें

मारूबोज़ू कैंडल पूरे चार्ट में कहीं भी बन सकता है और ये पिछले कैंडल की परवाह नहीं करता है. एक पूरी तरह से बनने बाले मारूबोज़ू की अपर और लोअर शैडो ( Upper and Lower Shadow ) नही होते है. इसलिए इसे जापानी भाषा में “गंजा” कहा जाता है. इसमें आपको सिर्फ real body ही दिखेगी जैसा की आप निचे चित्र में देख सकते है-

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi
Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

बुलिश मारूबोज़ू ( Bullish Marubozu )

बुलिश मारूबोज़ू हो या फिर बेरिश मारूबोज़ू हो, इसका मतलब होता है की (Open = Low and – High = Close. यदि Low के बराबर Open और Close के बराबर High इसका मतलब ये बुलिश मारूबोज़ू होता है. यह हमें संकेत देता है की मार्किट में अधिक खरीदारी हो रही है और भागीदार किसी भी कीमत पर उस share को खरीदने को तैयार है.

तभी share अपने high point पर बंद होता है. मारूबोज़ू कैंडल बनने पर कोई फर्क नहीं पड़ता की इससे पहले का trend क्या था. जब इस तरह का एक्शन होता है तो इसका मतलब ही की मार्किट का मूड और माहौल बदल चूका है. अब share की कीमत पूरी तरह से bulish है.

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi
Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

मूड और माहौल बदलने पर तेजी रहती है और यह माहौल कुछ समय तक चलता रहगा. एक सही ट्रेडर इस तरह के मौके तलाश करता है और आपको भी इस मारूबोज़ू कैंडल का लाभ उठाना चाहिए. बुलिश मारूबोज़ू में शेयर खरीदने की कीमत मारूबोज़ू क्लोजिंग प्राइस ( Closing Price ) होती है, जहाँ आपको share को खरीदना होता है.

जैसा की आप ऊपर चार्ट में कैंडल को एक घेरे में देख रह है वो बुलिश मारूबोज़ू है. आपने अच्छे से देखा होगा की उसमे ना ही ऊपर (upper शैडो) और ना ही नीचे (lower शैडो) है. इस कैंडल का OHLC है ओपन = 971.8, हाई = 1030.2, लो = 970.1, क्लोज = 1028.4

इस मारूबोज़ू कैंडल से आपको ज्ञात हो रहा है कि मार्किट में काफी तेजी है और इस समय शेयर को खरीदना सही रहगा. इस सौदे के लिए सही कीमत क्या होंगी- खरीद की कीमत = 1028.4 के पास और स्टॉप लॉस = 970.0 = अब आप समझ चुके होंगे कि कैंडलेस्टिक पैटर्न आपको कोई टारगेट प्राइस ( Target Price ) नहीं देता है.

शेयर खरीदने का सही समय क्या होगा?

यदि आपने मारूबोज़ू कैंडल को देख कर शेयर खरीदने का फैसला किया है तो शेयर खरीदने का सही समय क्या होगा? ये आप पर निर्भर है की आपकी जोखिम लेने की क्या छमता है, मार्किट में 2 प्रकार के ट्रेडर होते हैं- एक रिस्क लेने वाला और दूसरा रिस्क से बचने वाला.

रिस्क लेने वाला ट्रेडर शेयर को उसी दिन खरीदेगा जिस दिन उसे मारूबोज़ू दिखेगा लेकिन उसे पता होना चाहिए की मारूबोज़ू कैंडल बन गया या नहीं. वैसे आप इसे आसानी से जाचं कर सकते है.

भारतीय बाजार शाम के 3:30 बजे बंद होते हैं बाजार बंद होने से 10 मिनट पहले यानी 3:20 पर यह देखना होगा कि शेयर की मौजूदा कीमत यानी CMP उस दिन के हाई प्राइस के और ओपन प्राइस की कीमत बराबर है लो प्राइस यानी सबसे नीची कीमत के.

यदि यह दोनों शर्तें पूरी हो जाती है तो आपको साफ़-साफ़ पता चल जायगा की उस दिन मार्किट में मारूबोज़ू कैंडल बना है तो ऐसे में आप शेयर को खरीद सकते हैं. 

आपकी खरीद क्लोजिंग प्राइस के आस पास होनी चाहिए. आपको यह जानना जरुरी है कि रिस्क लेने वाला ट्रेडर भी शेयर में तेजी यानी नीले/हरी कैंडल वाले दिन खरीद रहा है ये नियम नंबर 1 का पालन कर रहा है जो कहता है की मजबूती में खरीदना और कमज़ोरी में बेचना है.

रिस्क से बचने बाले ट्रेडर

(Candlestick Chart In Hindi Pdf, Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi) रिस्क से बचने वाला ट्रेडर शेयर तब खरीदेगा जब उसे यह लगेगा की मारूबोज़ू पिछले दिन बन गया है क्योंकि तभी वह नियम नंबर 1 का पालन कर रहा होगा. इसका मतलब ये है share तब खरीदना है जब मार्किट बंद होने वाला हो.

इस प्रकार के ट्रेडस के लिए एक मुश्किल होती है कि खरीद की कीमत हमेशा खरीद की सुझाई गई कीमत से थोड़ी ऊंची होती है. इसीलिए स्टॉप लॉस भी काफी नीचा होता है लेकिन यह ट्रेडर रिस्क उठाने से बच रहा इसलिए वह पूरी तरह निश्चित होने पर ये सौदा करता है. एक और उदाहरण के तौर पर समझते है अब चार्ट पर नजर डालते हैं जहां पर रिस्क लेने वाला और इससे बचने वाला ट्रेडर इन दोनों को फायदा होता है.

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

हमने आपको चार्ट में बुलिश मारूबोज़ू को गोले में घेर कर दिखाया है क्योकि जो भी रिस्क लेने वाला ट्रेडर होता है वह अपना सौदा उसी दिन करता है जब मार्किट बंद होने वाली होती है. लेकिन ऐसा करने से उसे अगले दिन भारी नुकसान भी हो सकता है लेकिन दूसरा ट्रेडर रिस्क से बचने के लिए अगले दिन का इंतजार करता है फिर उसे अगले दिन लाल कैंडल दिखी यानि मंदी का समय है तो उस समय वह नुकसान से बचेगा.

आपको याद रखना है की लाल कैंडल है तो share को बेचना है और कैंडल हरी/नीली है तो share को खरीदना है. (Candlestick Chart In Hindi Pdf, Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi)

What is Stock Market in Hindi

Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi Book

download

मार्किट के Up और Down दोनों में मुनाफा

कॉल/पुट आप्शन खरीदने से पहले 2 बातें

लोगों के दोवारा पूछे गय सवाल –

कैंडलस्टिक चार्ट कैसे सीखें?

कैंडलेस्टिक पेटर्न कितने प्रकार के होते हैं?

कैंडल कितने प्रकार के होते हैं?

कैंडलस्टिक चार्ट कब खरीदें?

चार्ट कैसे देखते हैं?

अच्छा शेयर कैसे चुने?

चार्ट से आप क्या समझते हैं?

शेयर मार्केट में कम से कम कितना पैसा लगा सकते है?

शेयर किस समय ख़रीदे जाते है?

भारतीय बाजार शाम के 3:30 बजे बंद होते हैं बाजार बंद होने से 10 मिनट पहले यानी 3:20 पर यह देखना होगा कि शेयर की मौजूदा कीमत यानी CMP उस दिन के हाई प्राइस के और ओपन प्राइस की कीमत बराबर है लो प्राइस यानी सबसे नीची कीमत के….

शेयर मार्केट की सच्चाई शेयर क्या है?

शेयर मार्केट की सच्चाई शेयर मार्केट में भारत के सिर्फ 5-6 % लोग पैसा लगाते हैं, उनमें से 70-80 % लोग अपना पैसा गवां देते है और सिर्फ 20-30 % लोग स्टॉक मार्केट से अच्छा पैसा कमाते है और अमीर बनते है. कारण
1.       लोग स्टॉक मार्केट को सीखते नहीं है.
2.       लोग दूसरों से टिप लेकर पैसा लगा देते हैं.

रतन टाटा की क्या सच्चाई है?

रतन टाटा 4 % अकेले देश की GDP को CONTRIBUTE करते है, हर साल रतन टाटा 50 हजार करोड़ के लगभग का टैक्स CONTRIBUTE करते है, पूरा आसाम, हिमाचल प्रदेश, ओडिसा गोवा इतना टैक्स कलेक्ट नहीं करते, जितना टाटा ग्रुप अकेला देश को टैक्स देता है.

पाकिस्तान के शेयर मार्केट का जितना मार्किट केप है उससे ज्यादा TATA कंपनी में TCS का है लोग सोचते है कि ये अमीरों की लिस्ट में क्यों नही आते ये अपना 99 % पैसा दान कर देते है अगर ये दान न करते तो आज ये एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति होते ये सच्चाई बहुत कम लोगो को पता है.

निवेश का सबसे अच्छा साधन क्या है/3 जगह पैसे इन्वेस्ट करो

1.       प्रॉपर्टी – देश में जनसंख्या बढ़ती जा रही है जमीनों की कमी है इसलिए इसकी कीमत बढ़ती जा रही है आप प्रॉपर्टी में पैसे लगा कर आप बहुत से पैसे कमा सकते हो.
2.       बिज़नेस – बिज़नेस में पैसे लगाकर आप बहुत पैसे कमा सकते है लेकिन बिज़नेस प्रॉफिट देगा या नहीं देगा यह आपकी मेहनत पर निर्भर करता है.
3.       शेयर मार्केट –  डायरेक्ट किसी भी कम्पनी में पैसे इन्वेस्ट कर सकते है हमारी प्रोफाइल की BIO की लिंक से फ्री में Account ओपन करके आप शेयर्स में इन्वेस्ट कर सकते हो.

बेस्ट फाइनेंस टिप्स क्या है?

1. 6 महीने आपको जितना खर्चा आता है उतना एक इमरजेंसी फंड बनाओ.
2. हर महीने अपनी कमाई में से 20 % पैसा सेव करो.
3. फाइनेंस के बारे में बुक्स पढ़ो.
4.स्टॉक मार्केट सीखो और अच्छी कम्पनियो में पैसा मैनेज करो.
5. एक से ज्यादा इनकम सोर्स बनाओ.
6. अपनी कमाई और खर्चे लिखो और अपना पैसा मैनेज करो.
7. जब तक आप सम्पति नहीं बनाते हो तब तक शौक की चीजे मत खरीदो.
8.  जरूरत न हो तो कर्ज मत लो. Candlestick Chart In Hindi Pdf, Candlestick Chart Pattern Pdf In Hindi

Leave a comment