Trading में loss से कैसे बचे 2022| Intraday Trading Strategy in Hindi

Intraday strategy in Hindi- इससे पहले हम intraday के बारे में समझ लेते है intraday का मतलब क्या है – “इसके बोलने में ही इसका अर्थ निकल के आ रहा है “intraday” किसी भी share को 1 दिन में खरीद कर उसी दिन बेचने को intraday कहाँ जाता है” “जिस share को आज ख़रीदा है ठीक उसी दिन share को बेचा जाता है”

Intraday Trading Strategy in Hindi को समझते है?

Intraday में share market में share की कीमत उतार-चढ़ाव के दौरान ट्रेडर्स कुछ ही घंटे में काफी मुनाफा कमा लेते है. जब भी ट्रेडर्स को intraday में stock की कीमत बढती हुई दिखाई देती है, तो उससे पहले वह काफी share खरीद लेते है और बाद में कीमत बढ़ते ही बेच देते है.

What is Stock Market in Hindi

रिवर्स, जिसे हम short selling कहते है. ट्रेडर्स इसका उपयोग मार्किट के गिरते समय करते है. ट्रेडर्स अपने ब्रोकर से stock उधार ले लेते है फिर मार्किट में बेचते है. जब भी share की अधिक कीमत गिरती है उस समय ट्रेडर्स बहुत से share खरीदते है फिर उनको lender को बापस कर देते है.

High risks

Intraday strategy in hindi -Intraday ट्रेडर्स अनिवार्य रूप से Volatility का अधिक फायदा लेते है, इसलिए वह सबसे ज्यादा जोखिम का सामना करते है. यह long-term stock में इन्वेस्ट करने से अधिक जोखिम intraday में होता है. यह काफी बड़े खिलाडी होते है इसलिए वह अधिक जोखिम लेने के इच्छुक होते है.

यह ट्रेडर्स मार्जिन ट्रेडिंग के उपयोग से लाखो करोड़ो रूपए से अधिक कीमत बाले ट्रेड्स लेते है. ( Upstox दोवारा दिए गय अधिक मार्जिन का फायदा लेने के लिए cover orders और bracket orders का यूज़ करे) intraday traders अधिक मात्रा में कमाई कर सकते है.

What is Upstox in Hindi

Stock Price Impact

कोई share 200-202 के अंदर बिज़नेस कर रहा है. इसमें ट्रेडर्स या डे ट्रेडर्स 1000 share को खरीदते है. इस तरह अचानक share की मांग बढ़ जाती है जिसके साथ-साथ कीमत भी आधिक बढ़ जाती है. (Intraday strategy in hindi) जैसे ही यह निश्चित स्तर तक पहुच जाता है फिर ट्रेडर्स अपने stock को बेचने लगते है. इसके बाद कीमत की गिराबट का कारण भी बनता है.

Technical Analysis-

दिन के व्यापारी (intraday) हमेशा stock की price,volatility और volume देखते है. यह ट्रेडर्स technical analysis करते है जिससे उन्हें stock के बारे में समझ आ जाता है. इससे वह अनुमान लगते है की भविष्य में stock की कीमत क्या होने बाली है.  Technical analysis स्टॉक की खरीदने से बेचने तक की परिस्थिति दिखाने में मदद करता है.

इस कार्य में अधिक समय और लगातार प्रयास और धर्य की आवश्यकता होती है. दिन के व्यापारी पूरे दिन मार्किट में shares की कड़ी निगरानी रखते है जिससे वह सही समय पर ट्रेडिंग कर सके और उन्हें अच्छा मुनाफा मिले. (Intraday trading strategy in hindi)

IntradayTrading कैसे करे? Intraday Strategy in Hind

Intraday trading kaise kare- यदि आप intraday में ट्रेडिंग करना चाहते हो तो आपको उन high volume shares को चुनना है ये बहुत ही liquid होते है. इसमें पेनी स्टॉक शामिल होते है – कुछ कंपनियो के शेयर्स की कीमत बहुत कम 20 रूपए होती है ऐसे में आपको 1-2 से अधिक shares को खरीदना है.   अधिक शेयर को निगरानी में रखना काफी मुश्किल होता है आपको कीमत तय करनी होगी जिस कीमत पर आप खरीदना और बेचना चाहते है.

आपकी entry और target कीमत बहुत ही मह्त्पूरण है और इससे भी जरुरी है की सुरक्षा के लिए shares का ऑर्डर देते हुए stop loss जरुर लगाए.  इससे आपको जोखिम से बचाने में मदद मिलती है जब भी आप आर्डर दे देते हो तो उसके बाद में काफी निगरानी रखनी होती है और जब stock की कीमत आपके लक्ष्य या फिर stop-loss hit हो जाए तो तुरंत share को बेचकर बहार निकल आये.

Intraday और Delivery में कौनसी ट्रेडिंग अच्छी है – Delivery vs Intraday Trading

यदि डेलिवरी की बात की जाए तो इसमें आप काफी कुछ कर सकते है. इसमें एक बार share खरीदने के बाद जब चाहे तब तक होल्ड करके रख सकते है या अगले 1-2 दिन में बेच सकते है. यह सब आप के हाथ में होता है जब चाहे इसे बेच के मुनाफा कमा सकते है जब भी आपको लगे की share की कीमत ऊपर जा रही है तब share को बेच सकते है.

Intraday में एक सबसे बड़ी बात ये होती है की (9:15 am to 3:30 pm) मार्किट के बंद होने से पहले उन shares को बेचना होता है अब चाहे तो आपको मुनाफा या loss होता हो. इसके बाद आपके पास 1 आप्शन होता है. कुछ ऐसे ऑनलाइन प्लेटफार्म है जो इन शेयर्स को डिलीवरी में बदल देते है. ‘डिलीवरी ट्रेड’  में भी बदल सकते है.

Candlestick Pattern pdf in Hindi

Wrapping Up – महत्वपूर्ण जानकारी 

Intraday में ब्याज के लिए इन्वेस्ट नहीं किया जाता है बल्कि अधिक लाभ पाने के लिए इस ट्रेडिंग का उपयोग किया जाता है. (Intraday trading strategy in hindi)

कुछ ऐसे सामान्य indicators है जिनकी मदद से ट्रेडर्स को मुनाफा लेने के लिए काफी आसानी होती है जैसे – मोमेंटम ऑसिलेटर्स, बोलिंगर बैंड, मूविंग एवरेज, रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडेक्स आदि.

अस्थिर शेयरों से दूर और उन शेयरों पर ध्यान देना चाहिए जिनके सम्बन्ध अधिक सेक्टरस से हो.

एक इन्वेस्टर को resarch और analysis करना बहुत महत्वपूर्ण होता है अब चाहे वे कितने भी अनुभवी या नय ट्रेडर्स हों.

Intraday में एक ही दिन में लेनदेन होता है

Intraday ट्रेडिंग करने से पहले आपको उसके बारे में अच्छे से resarch और ज्यादा से ज्यादा funds डाले.

अपने brokerage charges के साथ-साथ मार्किट के बारे में अच्छी समझ होनी चाहिए.

नय ट्रेडर्स सुरुआत में कुछ शेयर्स के साथ लेनदेन करे इससे आपको मार्किट के बारे में अच्छे से समझ आ जाएगा.

कामयाब ट्रेडर्स तेजी से सोचने की बजह तेजी से मार्किट की ओर बढता है.

ट्रेडर्स को कभी भी लालच नहीं करना चाहिए, मुनाफे के साथ लालच का रास्ता भी बन जाता है. हमें सांत मन से कार्य करना चाहिए.

नोट करे – Intraday trading strategy in hindi

आपको इसके उच्चारण ही पता चलता है, intraday एक ऐसा तरीका जहाँ पर एक ही दिन में share को ख़रीदा और बेचा जाता है. (जिस दिन share ख़रीदा जाता है ठीक उसी दिन share को बेचा भी जाता है)

यदि आप जब भी intraday के लिए आर्डर लगाते हो तो उसमे मार्किट के बंद होने के समय loss रहा है तो ऐसे में ‘डिलीवरी ट्रेड’ में बदलने का आप्शन आता है.

यदि आप सिखने के लिए, करने के लिए और जोखिम उठाने के लिए तैयार ना हो तो इन्वेस्ट ना करें. Intraday Trading सभी के लिए नहीं है क्योकि इसमें बहुत जोखिम होता है इसीलिए इसके बारे में अच्छी जानकारी होना चाहिए, तभी आप एक अच्छा ट्रेडर्स बन सकते है.

इन्वेस्टमेंट

आप ट्रेडिंग में लगातार मुनाफा नहीं कमा सकते है इसमें नुकसान तो एक आम बात है. Intraday में लगातार 7 घंटे ट्रेड का सामना करना पड़ सकता है फिर इसके बाद में ही एक ट्रेड जिनसे सभी ट्रेड का मुनाफा निकल सकता है.

Market के कार्य को समझना

एक ट्रेडर को मार्केट के बारे में समझना बहुत जररी है की वह किस तरह से कार्य करती है.

Intraday Trading Strategies india Hindi, Intraday Trading Strategy in Hindi

इंट्राडे में पैसे कैसे कमाए?

Intraday से पैसे कैसे कमाए जाते है यह जानना जरुरी है. आपको कुछ निचे दिए गय पॉइंट को समझना है

  1. मार्किट के trend को समझे
  2. अधिक High liquidity वाले स्टॉक को सेलेक्ट करे
  3. Intraday trading में अधिक ट्रेड ना करे
  4. स्टॉप-लोस जरुर लगाये

क्या मैं इंट्राडे में 10000 शेयर खरीद सकता हूं?

यदि आप 10000 शेयर खरीदना चाहते है तो खरीद सकते है लेकिन उन शेयर्स को पोजीशन बनाने के लिए उतनी पूंजी भी होनी चाहिए.

ट्रेडिंग कितने प्रकार के होते हैं?

ट्रेडिंग (Type of Trading) 4 प्रकार की होती है 1. इंट्राडे ट्रेडिंग  2. स्विंग ट्रेडिंग 3. लॉन्ग टर्म ट्रेडिंग 4. शार्ट टर्म ट्रेडिंग आदि. इंट्राडे में आपको एक ही दिन में शेयर को खरीदना और बेचना होता है.

इन्हें भी पढ़े –

Binomo app से पैसे कैसे कमाए

Intraday का क्या मतलब होता है

शेयर मार्किट में delivery अच्छा है या intraday ट्रेडिंग?

Delivery vs intraday trading in Hindi- डेलिवरी में आप काफी कुछ कर सकते है, इसमें एक बार share खरीदने के बाद जब चाहे तब तक होल्ड करके रख सकते है या अगले 1-2 दिन में बेच सकते है.
Intraday में एक सबसे बड़ी बात ये होती है की (9:15 am to 3:30 pm) मार्किट के बंद होने से पहले उन shares को बेचना होता है.

भारत में कुल कितने शेयर बाजार है?

भारत में कुल 23 स्टॉक एक्सचेंज उपलब्ध हैं, जिनमें से सबसे बड़े बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) हैं.

इंट्राडे करना चाहिए या नहीं!

Intraday trading कुछ ज्यादा रिस्की होती है इसमें ट्रेड लेने से पहले आपको CNC (डिलीवरी ट्रेडिंग) करे. इसमें आपको शेयर की पूरी कीमत देनी होती है और अपने हिसाब से इसे कभी भी बेच सकते है. Intraday Trading में गलती से गलत समय पर शेयर को खरीद लिया तो आपको भारी नुक्सान होगा.

Leave a comment