BCA क्या है | BCA Course in Hindi 2021

BCA क्या है? Best BCA Course in Hindi? 2021

दोस्तों बैसे तो life में बहुत सी चीजे जो important होती है अगर इस list में no. 1 की बात की जाये तो वो है पढाई जी है पढ़ाई life में बहुत ही जरुरी है. अगर आपको आगे जाकर लाइफ को सेट करना है अच्छे पैसे कमाना है तो पढाई करनी जरुरी है.10th तक तो पढाई almost सभी जगह एक जैसी ही होती है. और इसके बाद 11th, 12th में subject को चुना जाता है की हमें कोंन से subject लेना है और पढाई करनी होती है. और जैसे ही हम 12th पास करते है फिर कॉलेज की पढाई करनी होती है.

यह पर कुछ लोग 12th पास करने के बाद आगे की पढाई कंप्यूटर में करना चहाते है. इसीलिए बीसीए (BCA) कोर्स करने को सोचते है.

बीसीए का क्या मतलब है? bca ka matlab kya h?

अब जानिए की “BCA kya hai“? बीसीए का क्या मतलब है. आजकल स्टूडेंट की रूचि कंप्यूटर फील्ड में ज्यादा बड़ रही है. इसीलिए कई सारे student 12th पास करने के बाद कंप्यूटर फील्ड में जाना चहाते है. और कंप्यूटर फील्ड में जाने के लिए BCA Course काफी अच्छी चोइस है. लेकिन इसमें एडमिशन लेने से पहले कुछ जरुरी बाते पता होना चाहिए. आपको इस कोर्स के बारे में पूरी जन करी होनी चाहिए.

आखिर यह BCA कोर्स क्या है इसमें किस तरीके से पढाई होती है. और इसे करने के बाद आप किस तरीके की जब कर सकते है. और अच्छी खासी (25,000 से 40,000) तक कमा सकते है. BCA एक प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है. जिसका पूरा नाम यानि की इसकी full form “Bachelors of Computer Application” है. जो की एक Under Graduate Degree Course है. जो की पूरे 3 साल का होता है.

  (Career in BCA after 12th in Hindi). इसे आप 12th के बाद कर सकते हो. इसमें आपको कंप्यूटर एप्लीकेशन और कंप्यूटर साइंस से रिलेटेड चीजो के बारे में पढ़ाया जता है. यह एक technical कोर्स है. इसके जरीय हम आसानी से (IP) फील्ड में आसानी से काम कर सकते है.

बीसीए कोर्स (BCA Course) में क्या सिखाया जाता है? BCA Course in Hindi

  1. बीसीए (BCA) में आपको सॉफ्टवेर बनाना सिखाया जाता है
  2. वेबसाइट डिजाईन करना भी सिखाया जाता है
  3. कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (भाषा) सिखाया जाता है
  4. कंप्यूटर बेसिक (basic) के बारे में पढाया जाता है
  5. और कंप्यूटर नेटवर्क के बारे में भी सिखाया जाता है

BCA Ke Baad Kya Kare in Hindi? BCA Kya Hai?

अब बात आती है की bca ke baad kya kare in hindi. बीसीए कोर्स करने के बाद आपको कंप्यूटर के बारे में कई सारी चीजो का ज्ञान हो जायगा. जैसे की सॉफ्टवेयर किस तारीके से बनता है, आप कैसे सॉफ्टवेयर बना सकते है इसके साथ साथ बीसीए (BCA) डिग्री करने के बाद आप एक सॉफ्टवेयर कंपनी में जॉब भी कर सकते है. और आप साथ ही BCA करने के बाद एमसीए (MCA) कोर्स भी कर सकते है.

एमसीए क्या है? MCA कोर्स में क्या-क्या सिखाया जाता है. यह है सबाल सबाल चलो देखते है एमसीए (MCA) में आपको सॉफ्टवेयर बनाना और वेबसाइट डिजाईन करना सिखाया जाता है. कंप्यूटर नेटवर्क के बारे मे सिखाया जाता है, कंप्यूटर बेसिक के बारे में पढ़ाया जाता है, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी सिखाते है और 12th पास कर के  BCA कर सकते है.

BCA Ke Baad Salary

बीसीए के बाद नौकरी और बसा के बाद सैलरी कितनी मिलेगी. यह जानना भी जरुरी है. बीसीए करने के बाद हमें एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर, सॉफ्टवेयर डेवलपर, वेब विश्लेषक, नेटवर्क  इंजीनियर, फ्रंट एंड डेवलपर, मोबाइल एप्लीकेशन,

हार्डवेयर इंजीनियर, आईटी तकनीकी, ग्राहक सहायता तकनीशियन आदि.  और सरकारी जॉब भी लग जाती है. बीसीए करने के बाद हमें 25,000 से 40,000 हजार सुरु में ही मिलते है.  BCA Full Form “Master of Computer Application”. इसे करने के लिए कुछ college में 12th में साइंस या मैथ subject मांगते है. 12th में कम से कम 40% मार्क्स होने चाहिए. अच्छे collage में एडमिशन लेना है तो बीसीए एंट्रेंस एग्जाम को पास करना होगा. इसमें 6 सेमिस्टर होते है.

बीसीए की फीस & BCA Ki Fees kitni Hoti Hai in Hindi?

बीसीए की फीस, BCA Ki Fees kitni Hoti Hai in Hindi? बीसीए की फीस कम कम से कम 80,000 से 2,00,000 तक होती है बिलकुल कांफोर्म तो college में ही पता चलेगा. क्योकि सभी college की फीस अलग अलग होती है.

लोगों के पूछे गय सवाल-

बीसीए में क्या क्या होता है?

बसा कोर्स की फीस कितनी है?

बीसीए में कौन कौन से सब्जेक्ट आते हैं?

बीसीए की फीस कितनी होती है?

बीसीए करने के बाद कौन सी जॉब मिल सकती है?

BCA कोर्स क्या है?

बीसीए करने के फायदे क्या है?

बीसीए की पढ़ाई कैसे की जाती है?

इन्हें भी पढ़े –

MBA Full Information in Hindi?

टीचिंग कोर्सेज | Best Education Teaching Courses in India

B.Ed Course Details in Hindi | फीस | सैलरी | पात्रताए

CA Course After 12th Details in Hindi- सैलरी & फीस

Leave a comment