नेशनल स्टॉक एक्सचेंज क्या है 2022 | What is NSE in Hindi पूरी जानकारी

नमस्ते, दोस्तों आज के इस लेख में आपको NSE के बार में बताया है यदि आप इस लेख को पूरा पढ़ते है तो आपको किसी दूसरे लेख या यूटूब पर जाने की जरुरत नहीं होगी, क्योकि हमने आपके लिए NSE के बारे में काफी गहराई तक जानकर आपको सरल तरीके से समझाने की कोशिश की है. अब हम बात करते है की NSE क्या है?

What is NSE in Hindi – NSE क्या है?

जब भी आपने शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के बारे में सोच होगा तो उसमे NSE की बात होती है और बहुत से ट्रेडर NSE के बारे में अधिक बातचीत करते है. आइये जानते है की आखिर nse होता क्या है और किस ट्रेडिंग के समय इसका क्या काम होता है.

What is Stock Market in Hindi

Binomo Trading App लाखो कैसे कमाए

NSE Full Form ?

NSE Full Form Is = National Stock Exchange of India.

NSE Full Form in Hindi?

NSE का Full Form in Hindi = “राष्ट्रीय शेयर एक्सचेंज ऑफ इंडिया” है.

NSE का क्या मतलब होता है – What is NSE in Hindi?

यह एक stock exchange है इसका पूरा नाम “नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया” लिमिटेड है इसे भारत का सबसे बड़ा वित्तीय बाजार माना जाता है. यह दुनिया के टॉप 10 शेयर मार्किट में एक है. इसकी स्थापना 1992 में हुई थी. भारत में इसका सबसे पहले भारत के मार्किट में इलेट्रॉनिक ट्रेडिंग में सुरु हुआ.

NSE में कंपनियो के share को लिस्ट करते है इसके बाद में share को खरीद/बेचकर अच्छा मुनाफा कमाते है. इसमें भारत की टॉप कंपनियो के share लिस्ट किये हुए है यह भारत की सबसे बड़ी दूसरी स्टॉक एक्सचेंज है.

National Stock Exchnage of India in Hindi ?

NSE भारत की पहली टर्मिनल वाली स्टॉक एक्सचेंज है इसमें हमें stock के खरीदी और बिक्री की कीमत को स्क्रीन पर दर्शाता है जिसे हम देख कर share के खरीने बेचने का कदम रखते है.

NSE का उद्देश्य क्या है?

  1. सभी व्यक्ति को share market में इन्वेस्ट करने और share को बेचने व खरीदने की सुबिधा देता है.
  2. सुरक्षित तरीके से share को खरीदा और बेचा जा सकता है.
  3. शेयर बाजार में सभी को एक समान मानना.
  4. ख़रीदे गय share को लम्बे समय तक सुरक्षित रखना.

NSE का शेयर मार्किट में क्या कार्य होता है?

What is NSE in Hindi – अब हम इसके कार्यो के बारे में विस्तार से समझेंगे. जब भी कोई व्यक्ति nse के दोवारा इन्वेस्ट करना चाहता है तो उसे सबसे पहले मार्किट आर्डर देना होता है इसके बाद कंप्यूटर का automated process होता है जिसके माध्यम से आपके आर्डर का मिलान होता है.

Intraday Trading से पैसे कैसे कमाए

 जब भी कोई व्यक्ति मार्किट में इन्वेस्ट करता है तो उसे आर्डर करने के बाद एक नंबर दिया जाता है जिसे यूनिट नंबर कहा जाता है. इस कंप्यूटर ट्रेडिंग में खरीदने और बेचने बाले का नाम नहीं दिखाया जाता है उसे गुप्त रखते है और ना ही खरीदने बाला व्यक्ति बेचने बाले व्यक्ति की कोई जानकारी रखता है यह प्रोसेस बिलकुल सुरक्षित और गुप्त होता है.

जैसे ही इन्वेस्टर का आर्डर एक्सचेंज मार्किट में पूरा होता है तो इन्वेस्टर को उसके डीमैट अकाउंट में खरीदने और बेचने का आर्डर दिखने लगता है. इस तरह इन्वेस्टर को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में लेन-देन बहुत ही सुरक्षित और साफ़ होता है. आप डीमैट अकाउंट को किसी भी ब्रोकर के दोवारा खोला जा सकता है. झा पर हमें ट्रेडिंग की भी सुविधा मिलेगी.

इन्हें भी पढ़े –

Candlestick Pattern PDF in Hindi

Intraday Trading Strategy in Hindi

लोगों के दोवारा पूछे गय सवाल –

NSE की स्थापना कब हुई?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया की स्थापना सन 1992 में हुई थी. What is NSE in Hindi

NSE का मुख्यालय कहां है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया का मुख्यालय मुंबई में स्थित है.

NSE Index का सूचकांक क्या है?

NSE का सूचकांक इंडेक्स निफ्टी है जिसको सभी लोग nifty 50 के नाम से जानते है.

NSE पर क्या क्या लिस्टेड है?

इसमें कंपनियों के शेयरस, डिबेंचर और सिक्योरिटी बॉन्ड्स आदि जानकारी लिस्ट की जाती है.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अध्यक्ष कौन है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अध्यक्ष राजीव महर्षि है.

भारत में कुल कितने स्टॉक एक्सचेंज हैं?

भारत में पहले स्टॉक एक्सचेंज 24 थे लेकिन अब 23 हो गय है.

शेयर बाजार की नियामक संस्था कौन है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया की स्थापना 12 अप्रैल, 1992 में हुई थी.

Leave a comment