B.Com Course Details in Hindi-फीस, सैलरी & Best College

B.Com Course Details in Hindi

12वी कक्षा पास करने के बाद हम सभी के पास विभिन प्रकार के विकल्प होते हैं। कुछ लोग कॉम्पटीशन की तैयारी करते हैं तो कुछ एक स्पेसिफिक कोर्स करके अपनी प्रॉफेशनल लाइफ को आगे बढ़ाते हैं। जो लोग कॉरपोरेट या फिर फाइनेंस के क्षेत्र में जाना चाहते हैं वह मुख्य रूप से दसवीं के बाद 11वीं कक्षा में कॉमर्स स्ट्रीम को चुनते हैं क्योंकि कॉमर्स स्ट्रीम को चुनने के बाद गवर्नमेंट सेक्टर के साथ निजी क्षेत्रों की कंपनियों में विभिन्न प्रकार की जॉब के लिए योग्य बना जा सकता है और बेहतरीन आय प्राप्त की जा सकती है।

लेकिन इसके लिए वाणिज्य अर्थात कॉमर्स से 12वीं पास करने के बाद हमें एक बेहतरीन और प्रोफेशनल कोर्स भी करना पड़ता हैं। अधिकतर लोग कॉमर्स से 12वीं पास करने के बाद B.Com का कोर्स करते हैं। B.Com एक प्रॉफेशनल कोर्स हैं जिसे करने के बाद विभिन्न क्षेत्रों (सरकारी और निजी) में काम करने के लिए छात्र योग्य बन सकता हैं। अगर आप भी बी.कॉम कोर्स की तरफ उत्साहित हो तो यह लेख आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होने वाला हैं

क्योंकि इस लेख में हम आपको बीकॉम कोर्स की पूरी जानकारी  (B.Com Course Details in Hindi) आसान भाषा मे देने वाले हैं। अगर आप 12वी के बाद B.Com करने की सोच रहे हो और आपके दिमाग मे B.Com को लेकर कोई भी सवाल हैं तो यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होने वाला है।

इस लेख में हम बीकॉम की फुल फॉर्म क्या हैं, बीकॉम कोर्स क्या हैं, बीकॉम कोर्स करने के लिए योग्यता, बीकॉम कोर्स कितने साल का होता हैं, बीकॉम कोर्स कैसे करते हैं, बीकॉम कोर्स में कितनी फीस लगती हैं और बीकॉम करने के बाद कितनी सैलरी मिलती हैं जैसे सभी सवालों का जवाब देंगे। इस लेख को बढ़ने के बाद बी.कॉम को लेकर आपके दिमाग में और कोई डाउट नही रहेगा। अर्थात इस लेख में हम B.Com Course Details in Hindi आसान भाषा के समझेंगे।

बीकॉम की फुल फॉर्म क्या हैं? “B.Com Course Details in Hindi”

बीकॉम के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने से पहले आपका यह जानना जरूरी है कि बीकॉम की फुल फॉर्म क्या होती है! बीकॉम की फुल फॉर्म अर्थात बीकॉम (B.Com) का पूरा नाम बैचलर ऑफ कॉमर्स (Bachelor of Commerce) होता है। अगर बात को जाए बी.कॉम की हिंदी फूल फॉर्म की तो वह वाणिज्य स्नातक होगा।

बीकॉम क्या है? (What is B.Com in Hindi – B.Com Course Details in Hindi

बीकॉम या फिर कहा जाए तो बैचलर ऑफ कॉमर्स वाणिज्य के क्षेत्र में एक लोकप्रिय अंडरग्रैजुएट डिग्री कोर्स है। मुख्य रूप से बीकॉम कोर्स तीन तरह से किया जा सकता हैं अर्थात या तो आप B.Com जनरल कर सकते हैं या फिर आप B.Com Honors और B.Com LLB कर सकते हैं। बीकॉम एक वर्सेटाइल कोर्स हैं जिसके अंदर कैंडीडेट्स को अपनी रूचि के अनुसार सब्जेक्ट चुनने का मौका भी मिलता है।

यानी कि अगर आप किसी स्पेसिफिकेशन के साथ बीकॉम करना चाहते हो तो वह भी संभव है। बीकॉम के अंदर फाइनेंसियल एकाउंटिंग, कॉरपोरेट टैक्स, इकोनॉमिक्स, कंपनी लॉ, ऑडिटिंग और बिजनेस मैनेजमेंट जैसी विषयो को पढ़ाया जाता है जो छात्र को निजी कंपनियों में जॉब करने में और अपना स्टार्टअप शुरू करने में मदद करती है। जो छात्र कॉमर्स, एकाउंटिंग, फाइनेंस, बैंकिंग या फिर इंश्योरेंस के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं उनके लिये बी.कॉम वाकई में एक बेहतरीन कोर्स साबित होता हैं।

बीकॉम का कोर्स पूरा करने के बाद अगर स्टूडेंट उच्चस्तरीय पढ़ाई करना चाहता है तो वह भी संभव है क्योंकि बीकॉम का कोर्स करने के बाद स्टूडेंट एमबीए, एमकॉम और एमसीए जैसे कई प्रोफेशनल कोर्सेज के लिए एलिजिबल हो जाता है। बीकॉम के कोर्स की एक खास बात यह है कि यह आसानी से यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में उपलब्ध हो जाता है यानी कि इसके लिए स्टूडेंट को ज्यादा भागदौड़ नहीं करनी पड़ती। इसके अलावा बीकॉम का कोर्स करने में मुख्य रूप से अन्य कई प्रोफेशनल कोर्सेज के मुकाबले फीस भी कम देनी पड़ती हैं।

बीकॉम का कोर्स कितने साल का होता हैं? “What is B.Com in Hindi”

अगर आपकी रुचि बीकॉम के कोर्स में है तो आपको इसकी डयूरेशन के बारे में पता होना चाहिए। बीकॉम के कोर्स में 6 सेमेस्टर होते हैं और प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने का होता है तो बीकॉम का कोर्स करने के लिए आपको 3 साल का समय लगता है। काफी सारी यूनिवर्सिटी छात्रों को बीकॉम के कोर्स के दौरान इंटर्नशिप करने का मौका भी देती है लेकिन वह उन्ही 3 सालो के अंदर होती हैं।

अतः बीकॉम के कोर्स की टोटल ड्यूरेशन 3 साल हैं। बीकॉम का कोर्स करने के लिए योग्यताए – B.Com Course Eligibilities in Hindi अगर आप बीकॉम का कोर्स करना चाहते हो तो बता दें कि इसके लिए कुछ योग्यताएं निर्धारित की गई है, जो इस प्रकार हैं:

  • बीकॉम का कोर्स करने के लिए 12वीं कक्षा अकाउंट्स, बिजनेस स्टूडिज, मैथ्स और अंग्रेजी जैसी जरूरी सब्जेक्ट्स के साथ पास की हुई होनी चाहिए।
  • बीकॉम का कोर्स मुख्य रूप से मेरिट के आधार पर किया जाता हैं। यानी कि सरकारी यूनिवर्सिटी कॉलेज में जाते हो तो वहां आपकी बारी में परफॉर्मेंस के अनुसार आपका नंबर आएगा और निजी कॉलेजों में 40 से 50% न्यूनतम परसेंटेज निर्धारित की हुई होती हैं।
  • मुख्य रूप से बीकॉम का कोर्स केवल कॉमर्स स्ट्रीम से पास हुए छात्र ही कर सकते हैं।

बी.कॉम कोर्स कैसे करे? (B.Com Course Details in Hindi)

क्योंकि बीकॉम एक प्रोफेशनल कोर्स है तो इसे करने के लिए आपको शुरुआत से ही ध्यान देना होगा। बीकॉम का कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले तो 11वीं कक्षा में कॉमर्स स्ट्रीम को चुनना होगा और अपनी 12 वीं कक्षा बेहतरीन परसेंटेज के साथ पास करनी होगी.

जिससे कि आपको किसी अच्छे कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिल सके। अगर आप कॉमर्स स्ट्रीम के साथ अच्छे नंबरों के साथ 12वीं कक्षा पास कर लेते हो तो आप सरकारी कॉलेज है यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने में सक्षम हो जाओगे। अगर बारहवीं कक्षा में आपकी प्रतिशत कम बनती है तो फिर आप किसी निजी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेकर बीकॉम कर सकते हैं।

बीकॉम कोर्स करने के लिए कितनी फीस लगती है?  बीकॉम कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?”

अगर आप किसी सरकारी यूनिवर्सिटी है कॉलेज से बीकॉम करते हैं तो उसके लिए आपको काफी कम फीस देनी होगी। सरकारी कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में केवल कुछ हजार में बीकॉम की फीस ली जाती है लेकिन अगर आप किसी निजी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से बीकॉम करते हैं तो फीस पूरी तरह से आपके कॉलेज के स्टैंडर्ड और कॉलेज में रिक्रूटमेंट के लिए आने वाली कंपनियों पर निर्भर करती है।

लेकिन मुख्य रूप से बीकॉम की फीस अन्य कई कोर्स के मुकाबले थोड़ी कम होती है। अगर आप किसी एवरेज कॉलेज में बीकॉम करते हो तो उसके लिए आपको 25 से 30 हजार रुपये सालाना देने होंगे।

बीकॉम कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है? B.Com Course Details in Hindi

अगर आप बीकॉम कोर्स करने के बाद सीधे नौकरी चाहते हो तो आपको बता दें कि यह पूरी तरह से आपके कॉलेज और आपकी इस कर्ज पर निर्भर करता है लेकिन अगर डिग्री की वैल्यू की बात की जाए तो बीकॉम कोर्स करने के बाद आप आसानी से 3 लाख से लेकर 6 लाख रुपये तक की सालाना जॉब करनी होती हैं

लेकिन अगर आप किसी एवरेज कॉलेज से बीकॉम कर रहे हो तो बेहतर यही होगा की बीकॉम के बाद आप किसी मास्टर कोर्स की तरफ जाओ या फिर कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी करो तो अधिक बेहतर होगा।

Private Colleges in Agra for B.com & B.Com Course Details in Hindi

Bcom Course Details in Hindi 

Course Duration/Eligibility Fees
Anjali Institute of Management and Science [Agra] B.com [1st Year] 10+2 Passed ₹6,800
AIHM Institute Of Tourism & Hotel Management [Agra] B.com [3 Years] 10+2 Passed ₹30,000
Agra College Agra (Uttar Pradesh] B.com [3 Years] 10+2 Passed ₹33,525
St John’s College [Agra] B.com [3 Years] 10+2 Passed ₹33,525

लोगों के पूछे जाने वाले सवाल- B.Com Course Details in Hindi

बीकॉम में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

Ans-  बीकॉम में 40 सब्जेक्ट होते हैं.

बीकॉम में कितने सेमेस्टर होते हैं?

Ans- बीकॉम के कोर्स में 6 सेमेस्टर होते हैं और प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने का होता है

Ans- बीकॉम फर्स्ट ईयर सब्जेक्ट?

Environmental Studies और Environmental Studies.

बीकॉम फर्स्ट ईयर की फीस कितनी है?

बीकॉम के बाद सरकारी नौकरी

  1. चिकित्सा अधिकारी नौकरियारि
  2. कंप्यूटर प्रशिक्षक नौकरियारि
  3. कनीय अभियंता नौकरियारि
  4. ग्रामीण डाक सेवक नौकरियारि

बीकॉम करने के बाद क्या करें?

Ans- MBA, LLB और M.COM

बीकॉम करने से क्या फायदा है?

Ans- अगर अप बीकॉम कर चुके है तो आपके पास कई जॉब के रस्ते खुल जाते है Finance, Marketing, Sales आपको इनके ऊपर ट्रेनिंग i जायगी.

कॉमर्स में कौन कौन सी जॉब होती है?

कॉमर्स से क्या बन सकते है?

  1. चार्टर्ड एकाउंटेंसी (सीए)
  2. कंपनी सचिव (सीएस)
  3. बीकॉम इन अकाउंटिंग एंड कॉमर्स
  4. बीबीए / बीएमएस

BDS Course Details in Hindi- सैलरी, फ़ीस & योग्यता

MCA Course Details in Hindi & What is MCA in Hindi

M Tech Course Details in Hindi & What is M Tech in Hindi

B.Arch Course Details in Hindi & What is B Arch in Hindi

B.Tech Course Details in Hindi | Best College, Fees & Salary

Leave a Comment