NPM Ratio | Net Profit Margin Kya Hai

आज के इस लेख में हमें आपको बताया है की NPM Ratio यानि Net Profit Margin Kya Hai, शेयर खरीदते समय इसका क्या उपयोग होता है. शेयर खरीदते समय आपको उस कंपनी के financial ratio देखना बहुत जरुरी है. इस लेख में अखिर तक बने रह है.

NPM | नेट प्रॉफिट मार्जिन क्या है

NET PROFIT MARGIN एक financial ratio है इससे आपको कंपनी के revenue पर net profit के बारे में पता लगता है.

Example –

यदि ABC कंपनी है उसका Net Profit Margin 20% है तो इसे आप समझ लें की कंपनी अपने सभी revenue पर 20% का मुनाफा कमा रही है. ABC कंपनी का revenue 100 करोड़ रूपए है तो समझे कंपनी 20% यानी 20 करोड़ रूपए का net profit कमा रही है.

PE Ratio In Hindi

नेट प्रॉफिट मार्जिन को कैलक्यूलेट कैसे करते है?

नेट प्रॉफिट मार्जिन को कैलकुलेट इस तरह से करते है –
Net Profit margin = Net Income  ⁄  Total revenue x 100

नेट इनकम को नेट प्रॉफिट भी कहते है जो कंपनी का 1 वर्ष का profit होता है. और revenue का मतलब होता है की कंपनी ने 1 वर्ष में कितने रूपए का सर्विस और प्रोडक्ट सेल की है. आप यह नेट इनकम’ और ‘रेवेन्यू’ दोनों चीजें कंपनी के स्टेटमेंट में मिल जाती है. NPM

नेट प्रॉफिट मार्जिन Example

एक कंपनी है जिसका स्टेटमेंट कुछ इस तरह का है

net profit margin kya hai
Net Profit Margin Kya Hai

अब हम इस कंपनी का Net Profit Margin कैलकुलेट करेंगे. इसा कंपनी का 42 करोड़ रूपए net income और सभी revenue 250 करोड़ रुपया का है. इसके बाद इस AB limited कंपनी का प्रॉफिट मार्जिन 16.8% हो जायगा.

Net Profit margin = Net Income  ⁄  Total revenue x 100

Net income – 42 cr

Total Revenue – 250 cr  

= 42cr / 250 X 100

Net Profit =16.8

Net Profit Margin Kya Hai
Net Profit Margin Kya Hai

AB limited कंपनी अपने total एक वर्ष के total revenue पर 16.8% का net profit कमा रही है.

Current Ratio in Hindi

कंपनी का नेट प्रॉफिट मार्जिन कितना होना चाहिए?

किसी भी कंपनी का नेट प्रॉफिट मार्जिन 2 प्रकार से बढ़ता है. वह कंपनी अपने प्रोडक्ट और सर्विस को दूसरी कंपनी से ज्यादा सेल कर रही हो या अधिक कीमत पर सेल कर रही हो, और दूसरा तरीका है वह कंपनी दूसरी कंपनी से कम खर्चा कर रही हो.

यदि वह कंपनी अपनी NPM  (Net Profit Margin) अधिक समय से अपनी इंडस्ट्री की दूसरी कंपनियो से ज्यादा रहा है तो इसका मतलब है की कंपनी काफी मजबूत है निवेशक को ऐसी कंपनियो को अच्छे से analysis करना चाहिए. इस तरह की कंपनी लम्बे समय बाद अच्छा मुनाफा देती है.

Book Value In Hindi

नेट प्रॉफिट मार्जिन से बेहतर शेयरों की पहचान कैसे करे

दोस्तों, एक बेहतर कंपनी को चुनने के लिए आपको उस कंपनी के 5 से 8 वर्ष के Net Profit Margin को देखना होगा. यदि कंपनी इन 5 से 8 वर्ष करे Net Profit Margin लगातार कम दिखाई दे रहा है तो समझो बुसिनेस कमजोर है और उसके बारे में अधिक जानने की कोशिश करें.

वही, यदि कंपनी 5 से 8 वर्ष में Net Profit Margin लगातार बढ़ रहा है और और वह कंपनी अपनी इंडस्ट्री की दूसरी कंपनियो से अधिक है तो समझो कंपनी का बिज़नस मजबूत है. यह कुछ वर्ष बार अच्छा return देगा.

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने आपको NPM Ratio क्या है, NET PROFIT MARGIN Kya Hai, NPM कैलकुलेट कैसे करे, NPM की फुल फॉर्म क्या है आदि के बारे में बताया है. यदि आपको इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है, हम आपके सवाल का जवाव देने की पूरी कोशिश करेंगे.

Sharing Is Caring:

Leave a comment