M.Ed Course Details in Hindi | फीस | सैलरी | योग्यता

एमएड कोर्स की पूरी जानकारी हिंदी में

M.Ed Course Details in Hindi– हम सब में से काफी सारे छात्र ऐसे होते हैं जो आगे जाकर अपने आप को एक शिक्षक के रूप में स्थापित करना चाहते हैं। यह आपकी इच्छा पर निर्भर करता है कि आप एक निजी शिक्षण संस्थान में टीचिंग जॉब करना चाहते हो या सरकारी टीचर बनना चाहते हो या फिर एक कोचिंग जाना चाहते हो लेकिन इन सभी सेक्टर्स में जाने के लिए आपके पास प्रॉपर Education और डिग्री होनी चाहिये। टीचर बनने के लिए Education डिग्री और कोर्स को सबसे बेहतर माना जाता हैं।

अगर भारत मे मौजूद सबसे बेहतरीन Education Degrees की बात की जाए तो वह B.Ed और M.Ed हैं जो टीचर बनने की तैयारी करने वाले छात्रों के बीच में काफी लोकप्रिय भी हैं। M.Ed एक मास्टर कोर्स हैं और इसका बैचलर कोर्स B.Ed हैं। अगर कोई छात्र आपमे सेक्टर को अधिक गहराई से जानना चाहता हैं तो वह B.Ed के बाद M.Ed कर सकता हैं। अगर आप B.Ed या फिर कोई अन्य एजुकेशन बैचलर कोर्स कर चुके हैं और अब एमएड करना चाहते हो तो यह लेख आपके दिखाकर फायदेमंद साबित हो सकता है।

इस लेख में हम एमएड कोर्स क्या हैं, एमएड कोर्स की फुल फॉर्म क्या हैं, एमएड कोर्स कितने साल का होता हैं, एमएड कोर्स कैसे करे, एमएड कोर्स करने के लिए कितनी फीस लगती हैं, एमएड कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती हैं जैसे सभी सवालों का जवाब देंगे। “M.Ed Course Details in Hindi” अर्थात इस लेख में आपको M.Ed कोर्स की पूरी जानकारी आसान भाषा मे मिलने वाली हैं।

M.Ed Course Full Form in Hindi | M.Ed Course Details in Hindi

एमएड कोर्स के बारे में अधिक जानने से पहले आपको एमएड कोर्स की फुल फॉर्म पता होनी चाहिए। अगर M.Ed कोर्स की सही फुल फॉर्म की बात की जाए तो वह Master of Educationn (मास्टर ऑफ एजुकेशन) हैं। यह 2 साल की ड्यूरेशन वाले बैचलर ऑफ एजुकेशन कोर्स कहीं मास्टर कोर्स है। M.Ed कोर्स की हिंदी फुल फॉर्म की बात की जाए तो वह शिक्षा के स्नातक होगी।

एमएड कोर्स क्या हैं? (What is M.Ed Course in Hindi – M.Ed Course Full Details in Hindi)

एमएड कोर्स वर्तमान में एजुकेशन के क्षेत्र में किया जाने वाला सबसे लोकप्रिय मास्टर कोर्स है। इस कोर्स को अधिकतर B.ed और MA जैसे कोर्स करने वाले छात्र करते हैं। यह एक प्रोफेशनल एजुकेशन मास्टर कोर्स है जिस में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम देनी होती है और कुछ शिक्षण संस्थानों में मेरिट बेस सिस्टम के आधार पर एडमिशन दिया जाता है। स्कूल टीचर, प्रिंसिपल, एजुकेटर, स्कूल ट्रेनर, एजुकेशन कंसल्टेंट और एजुकेशन कॉउंटर जैसे पदों पर काम करने के लिए एम एड का कोर्स किया जाता है।

एक सरकारी शिक्षक के रूप में खुद को स्थापित करने की चाह रखने वाले छात्र भी M.Ed कोर्स करते हैं। हाई स्कूल और यूनिवर्सिटी लेवल पर पढ़ाने के लिए यह कोर्स करना काफी लाभदायक माना जाता है। सरल भाषा में अगर M.Ed कोर्स को समझा जाए तो यह कोर्स हमें अन्य को पढ़ाने और ट्रेन करने के बारे में सिखाता है। “M.Ed Course Details in Hindi” यह एक वर्सेटाइल कोर्स है और इसे विभिन्न विषयों के साथ किया जा सकता है।

एमएड कोर्स कितने साल का होता हैं?

अगर आप M.Ed कोर्स की डेरेशन को लेकर कंफ्यूज हैं तो बता दे की M.Ed कोर्स बैचलर ऑफ एजुकेशन कोर्स की तरह ही 2 साल का होता है। इस कोड को मुख्य रूप से B.Ed कोर्स करने वाले छात्र ही करते हैं। कोर्स को करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम देख कर या फिर मेरी टेस्ट सिस्टम के माध्यम से शिक्षण संस्थानों में एडमिशन लिया जाता है। मुख्य रूप से कोर्स में साल में एक बार ही परीक्षा होती है और उसके अनुसार डिग्री छात्र को दी जाती है। इस कोर्स के बारे में एक खास बात यह भी है कि यह एक प्रोफेशनल कोर्स है और इसे करने के बाद निजी क्षेत्र में भी कई प्रकार के कमाई के अवसरों का लाभ उठाया जा सकता है।

एमएड कोर्स करने के लिए पात्रताए – M.Ed Course Eligibilities in Hindi

एमएड कोर्स वर्तमान में देश में किए जाने वाले सबसे प्रोफेशनल एजुकेशन कोर्स में से एक हैं। M.Ed कोर्स के बारे में कहा जाता है कि यह कोर्स कोई भी कर सकता है लेकिन असल बात तो यह है कि यह प्रोफेशनल कोर्सेज इसे करने के लिए कुछ पात्रताए निर्धारित है। “M.Ed Course Details in Hindi”

यह पात्रताए कुछ इस प्रकार हैं: इस कोर्स को करने के लिए B.Ed या B.El.Ed जैसा कोई कोर्स किया होना चाहिए। इस कोर्स को करने के लिए बैचलर एजुकेशन कोर्स में न्यूनतम 50 से 60% नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है। M.Ed कोर्स करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना जरूरी होता है और कई बार मेरिट आधारित सिस्टम पर भी परीक्षा ली जाती हैं। इसके अलावा यूनिवर्सिटी या कॉलेज लेवल पर भी कोर्स के लिए एलिजिबिलिटी डिसाइड की जा सकती हैं।

एमएड कोर्स कैसे करे? MEd Course Kaise Kare – M.Ed Course Full Details in Hindi

एमएड कोर्स करने के लिए आपको मुख्य रूप से एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिलता है। अर्थात M.Ed कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी होगी और जिस स्ट्रीम के साथ आपने 12वीं कक्षा पास की है वह सिस्टम के साथ एजुकेशन कोर्स जैसे कि B.Ed या B.El.Ed करना होगा। यह कोर्स करने के लिए भी आपको मुख्य रूप से एंट्रेंस एग्जाम देनी होती हैं। बैचलर कोर्स को आपको 50 से 60 प्रतिशत नंबरों के साथ पास करना होगा और उसके बाद आपको राज्य स्तर पर आयोजित की जाने वाली एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेना होगा और उस एग्जाम के द्वारा M.Ed कोर्स के लिए आपका यूनिवर्सिटी या कॉलेज में चयन किया जायेगा और इस तरह से आप एमएड कोर्स कर पाओगे।

एमएड कोर्स करने के लिए कितनी फ़ीस लगती हैं?

अगर आप बैचलर कोर्स कर चुके हैं और अब आपका M.Ed कोर्स करने का मन है तो आपको इसमें लगने वाली फीस के बारे में भी पता होना चाहिए। अगर आप एंट्रेंस एग्जाम देकर सरकारी कॉलेज है यूनिवर्सिटी में अपना एडमिशन प्राप्त करने में सफल होते हो या फिर स्कॉलरशिप प्राप्त कर लेते हो तो केवल कुछ हजार रुपयो में आपका एडमिशन हो जायेगा। प्राइवेट यूनिवर्सिटी और कॉलेज में उनके एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा इस कोर्स के लिए एडमिशन लिया जा सकता है।

वहां पर आपको इस कोर्स को करने के लिए कॉलेज के स्तर के अनुसार ₹20000 से लेकर ₹50000 तक सालाना देने पड़ सकते हैं। कुछ शिक्षण संस्थान इस कोर्स को करवाने के लिए लाखों रुपए भी लेते हैं तो यह कहा जा सकता है कि कोर्स की फीस मुख्य रूप से शिक्षण संस्थान पर डिपेंड करती है। “M.Ed Course Details in Hindi”

M.Ed कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

अगर आप पेमेंट कोर्स करना चाहते हो तो आपको इसके आगे के करियर ऑप्शन के बारे में भी पता होना चाहिए। यह कोर्स करने के बाद आप अपने आप को सरकारी शिक्षक के रूप में स्थापित करने के लिए तैयारी शुरू कर सकते हो। M.Ed कोर्स के बारे में खास बात यह है कि इससे जुड़ी रिक्रूटमेंट निकलती रहती है और यह कोर्स विभिन्न प्रकार की सरकारी नौकरियों की तैयारी करने में मदद करता है। “M.Ed Course Details in Hindi”

इसके अलावा इस कोर्स को करने के बाद आप व्यवसाय के तौर पर अपना कोचिंग सेंटर या शिक्षण संस्थान खुद भी शुरू कर सकते हो जिसमें अपनी स्ट्रैटेजी और मेहनत से काफी अच्छा पैसा कमा सकते हो। वही सामान्य या फिर कहा जाए तो निजी शिक्षण संस्थानों में भी इस कोर्स को करने वाले छात्रों को हाई स्कूल या कॉलेज में पढ़ाने के लिए 25 से 40 हजार मासिक तौर पर आसानी से दे दिए जाते हैं। यह भी कहा जा सकता है कि यह काफी हद तक आपकी स्किल्स और आपके एक्सपीरियंस पर डिपेंड करता है।

M.Ed Course Details in Hindi

CA Course After 12th Details in Hindi- सैलरी & फीस

Best Education Teaching Courses in India

Best Sociology Courses in India – Full Details in Hindi

Best Physiology Courses in India- Full Details in Hindi

हिंदी में- Best Courses after 12th Commerce in India

Leave a Comment