Interior Designing Course Details in Hindi- सैलरी, साल & फीस

Interior Designing Course Details in Hindi- सैलरी, साल & फीस

Interior Designing Course Details in Hindi-हमारे देश में कंस्ट्रक्शन का काम काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है और इसके चलते डिजाइनिंग के क्षेत्र में इंटीरियर डिजाइनर्स की मांग भी काफी बड़े रही है। अगर आप इंटीरियर डिजाइन के बारे में नहीं जानते तो बता दे

कि इंटीरियर डिजाइन के अंतर्गत आर्ट एंड बेसिक डिज़ाइन, फर्नीचर डिज़ाइन, फ़र्नीशिंग एंड फ़िटिंग, हिस्ट्री ऑफ़ इंटीरियर डिज़ाइन, कंस्ट्रक्शन एंड मटेरियल्स, सर्विसेस प्रो़फेशनल मैनेजमेंट, डिस्प्ले, कंप्यूटर एडेड डिज़ाइनिंग, लेटरिंग और प्रॉपर्टीज़ ऑफ़ मटेरियल एंड पेंट टेक्नोलॉजी जैसी चीजे सिखाई जाती है

जो उस समय पर काम आती है जब किसी घर, फ्लैट या फिर किसी अन्य प्रॉपर्टी को अंदर से डिजाइन किया जाता है। वर्तमान में हमारे देश में काफी सारे इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स मौजूद है जिन्हें करने के बाद इस क्षेत्र में एक फ्रीलांसर के तौर पर व्यवसाय करके अच्छा पैसा कमाया भी जा सकता है

और किसी अच्छे आर्किटेक्ट फर्म के साथ जुड़कर अच्छी सैलरी भी प्राप्त की जा सकती है। इस लेख में हम इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स क्या होता है, इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कितने साल का होता है, इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स में कितनी फीस लगती है

और इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कैसे करें जैसे विषयों पर बात करेंगे। सरल भाषा में कहा जाए तो इस लेख में आपको Interior Designing Course Details in Hindi आसान शब्दों में दी जाएगी।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स क्या होता है? (Interior Designing Course Details in Hindi)

Interior Designing Course Kya Hota Hai– इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स काफी हद तक आर्किटेक्चर के क्षेत्र से जुड़ा हुआ होता है। अगर आप उन लोगों में से एक हो जिन्हें कमरा सजाने में या फिर अपने घर को बेहतरीन तरीके से डेकोरेट करने में मजा आता है

तो अपनी इस क्रिएटिविटी को अपने इनकम सोर्स में बदलने के लिए आप इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कर सकते हो। इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स एक ऐसा कोर्स होता है जिसके अंदर आपको घर, फ्लैट, ऑफिस, या फिर किसी तरह की अन्य प्रॉपर्टी के इंटीरियर अर्थात अंदर के क्षेत्र को डिजाइन करने के बारे में प्रोफेशनल ही सिखाया जाता है।

सरल भाषा में इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स को समझा जाए तो यह एक ऐसा कोर्स है जिसमें आपको रियल एस्टेट प्रॉपर्टी के इंटीरियर को डिजाइन करने के बारे में सिखाया जाता है। बाकी सारे लोग इंटीरियर डिजाइनिंग को मात्र घर और ऑफिस की सजावट समझते हैं लेकिन यह काम इससे काफी अधिक बढ़कर है।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स को समझने के लिए सबसे पहले आपको इंटीरियर डिजाइनिंग के बारे में समझना होगा। इंटीरियर डिजाइनिंग एक इस प्रकार की डिजाइनिंग या फिर कहा जाए तो सजावट होती है जो किसी भी प्रॉपर्टी को अंदर की तरफ से बेहतरीन लुक देती है।

इंटीरियर डिजाइनिंग के माध्यम से किसी भी प्रॉपर्टी को अंदर से काफी सुंदर बनाया जा सकता है चाहे बात किसी घर की हो या फिर किसी ऑफिस की। इंटीरियर डिजाइनिंग के कोर्स में प्रॉपर्टीज के इंटीरियर को डिजाइन करने के बारे में ही सिखाया जाता है।

आज के समय में न केवल मेट्रो सिटीज बल्कि छोटे से छोटे शहरों में भी इंटीरियर डिजाइनर्स की मांग बढ़ रही है और इस वजह से इंटीरियर डिजाइनर्स की वैल्यू भी काफी बढ़ गई है।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कितने साल का होता है? Interior Designing Course Details in Hindi

Interior Designing Course Kitne Saal Ka Hota Hai– इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कई प्रकार के होते हैं जिनमें से कुछ डिप्लोमा होते हैं तो कुछ प्रॉपर ग्रेजुएशन कोर्स होते हैं। अगर आप इंटीरियर डिजाइनिंग में डिप्लोमा करते हो तो उसमें आपको एक या फिर 2 साल लगेगा जबकि BA, BSc के साथ इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करते हो

तो इसमें आपको 3 साल देने होंगे जबकि बैचलर आफ डिजाइन यानी की B.Des करने में आपके 5 साल जायेंगे। आपके ग्रेजुएशन कोर्स या फिर डिप्लोमा में जितना अधिक समय लगेगा आपको उतनी ही गहराई और प्रोफेशनली डिजाइनिंग के बारे में सिखाया जायेगा।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए योग्यता – (Interior Design Course Details in Hindi)

Interior Designing Course Karne Ke Liye Yogyata– इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए जो सबसे जरूरी चीज होती है वह होती है आपकी क्रिएटिविटी! अगर आपको डेकोरेशन और सजावट के काम में मजा आता है तो इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करना आपके लिए वाकई में एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है।

आप जिस भी कॉलेज से इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करोगे उस कॉलेज के अनुसार कोर्स को करने की पात्रताए और शैक्षिक योग्यताए तय की जा सकती है लेकिन जो सामान्य पात्रता इस कोर्स को करने के लिए हैं,

वो इस प्रकार हैं: इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए छात्रों को किसी मान्य बोर्ड से 12वी कक्षा पास करनी होगी। किसी भी स्ट्रीम का छात्र 12वी पास करने के बाद इंटीरियर डीजाईनिंग का कोर्स कर सकता हैं।

बेहतरीन कॉलेज से इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए 12वीं में कम से कम 50% मार्क्स आना अनिवार्य है। इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स के लिए कॉलेज में सीधा एडमिशन ले लिया जाता है और मुख्य रूप से इसके लिए कोई एंट्रेंस एग्जाम नहीं देनी पड़ती।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कैसे करें? (Interior Designing Course Details in Hindi)

Interior Designing Course Kaise Kare– कोई भी छात्र जो रियल एस्टेट प्रॉपर्टीज के इंटीरियर डिजाइन करने में रुचि रखता हो इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स कर सकता है। अगर आप अब तक 12वीं कक्षा में नहीं आए हो तो बता दें कि इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स करने के लिए जो स्ट्रीम सबसे अधिक पर की जाती है

वह साइंस और आर्ट्स है। वैसे तो आप किसी भी स्ट्रीम के साथ इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स कर सकते हो लेकिन अगर आप आर्ट्स को अपनी विषय बनाये और ड्राइंग जैसे सब्जेक्ट्स को चुने तो अधिक बेहतर रहेगा।

अगर आप यह तय कर चुके हो कि आप इंटीरियर डिज़ाइनर ही बनना चाहते हो तो इसके लिए बैचलर ऑफ़ डिज़ाइन यानी कि B.Des का कोर्स इंटीरियर डिजाइनिंग सेक्शन के साथ कर सकते हो। इसके अलावा BA Interior Design और BSc Interior Design भी काफी बेहतरीन विकल्प हैं।

अगर आप इंटीरियर डिजाइन के बारे मे केवल अपनी स्किल्स को इम्प्रूव करने सीखना चाहते हो तो इसके लिए डिप्लोमा भी सही रहेगा। अगर आप इंटीरियर डीजेइंग का कोर्स कर रहे हो तो कॉलेज का चुनाव करते वक्त इस बात का ध्यान रखे की आपके कॉलेज में प्रेक्टिकल स्किल्स को बेहतर करने पर भी ध्यान देते हो।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स में कितनी फ़ीस लगती हैं?

Inerior Designing me Fees Kitni Lagti Hai- अगर आप इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स करना चाहते हो तो इसके लिए आपको अच्छी खासी फ़ीस भी भरनी होगी। अगर आप सरकारी कॉलेज से इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स करते हो तो इसके लिए आपको काफी कम फ़ीस देनी होगी

लेकिन अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज से यह कोर्स करते हो तो आपको अच्छी खासी फीस चुकानी पड़ सकती है। इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स को किसी एवरेज प्राइवेट कॉलेज से करने के लिए आपको ₹80000 से ₹100000 तक सालाना होगी।

क्योंकि यह एक प्रोफेशनल कोर्स है तो इसकी फीस ज्यादा है लेकिन इसकी वैल्यू के अनुसार इसकी फीस बिल्कुल सटीक लगती है। इस बात का ध्यान रखे की अगर आप बेहतरीन नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं

तो इस प्रकार के कोर्स को करने के लिए हमेशा किसी बेहतरीन कॉलेज का ही चुनाव करें। इंटीरियर

डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद क्या सैलरी मिलती है? Interior Designing Course Details in Hindi

Designing Course Karne ke Baad Salary– यह एक ऐसा प्रोफेशनल कोर्स है जिसमे आप की डिग्री से ज्यादा आपकी स्किन मैटर करती है लेकिन अगर आप इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स को किसी बेहतरीन कॉलेज से करते हो तो आप ₹40000 तक की मासिक सैलरी शुरुआत से ही प्राप्त कर सकते हो जो बाद में इम्प्रूव भी होती हैं।

वर्तमान में भारत में इंटीरियर डिजाइनिंग ग्रेजुएट की एक्सपेक्टेड एनुअल सैलेरी आठ लाख रुपए से अधिक मानी जाती है लेकिन अगर आप अपनी स्किल्स को इंप्रूव करने पर ध्यान दोगे

तो आप एक फ्रीलांसर के तौर पर क्षेत्र में बिजनेस भी कर सकोगे जिससे कि आप अपनी मर्जी के मुताबिक अपनी स्किल्स और समय के लिए पैसा प्राप्त कर सकोगे।

इन्हें भी पढ़े –

Best Designing Course List

Best Python Language in Hindi 2021

Best Graphic Designer Salary in Hindi 2021

Graphic Design Kya Hai?

Interior Designing Course Details in Hindi

Leave a comment