डिजाइनर बनने के लिए कौन सा कोर्स करना पड़ता है| Designing Courses After 12th

Best Designing Course List-types of designing courses in indiaआज के समय में परफेक्टनेस हर किसी को और हर चीज में पसंद होती हैं जिसकी वजह से देश में तेजी से डिजाइनर्स की मांग भी बढ़ती जा रही हैं। इस बात में कोई दो राय नहीं हैं की आज के समय में डिजाइनर्स को देश में काफी अच्छी सैलरी भी मिलती है और इसके अलावा यह एक ऐसा क्षेत्र भी हैं जिसमे अच्छे खासे स्तर पर पहुंचने के बाद एक फ्रीलांसर के तौर पर कॉन्ट्रैक्ट पर काम किया जा सकता है

और इस तरह से इस क्षेत्र में व्यवसाय शुरू करके अच्छे पैसे भी कमाए जा सकते हैं। डिजाइनिंग का क्षेत्र उन छात्रों के लिए सबसे बेहतरीन माना जाता है जो क्रिएटिव होते हैं और जिनकी कल्पना काफी बेहतर होती है। “designing courses after 12th, designing courses list after 12thआर्किटेक्चर से लेकर ग्राफ़िक डिजाइनिंग तक सभी प्रकार के क्षेत्र में क्रिएटिविटी जरूरी होती है और इनमें लोगों को बेहतरीन सैलरी भी मिलती है।

अगर आप भी अपनी क्रिएटिविटी को अपने फुल पोटेंशियल में पहुचाकर उससे अच्छे पैसे भी कमाना चाहते हो तो इसके लिए आप अपनी रूचि के अनुसार डिज़ाइनिंग कोर्स कर सकते हो। इस लेख में हम भारत मे होने वाले सबसे बेहतरीन स्नातक डिजाइनिंग (designing courses after 12th, designing courses list after 12th) के बारे में बात करेंगे.

Fashion Designing Course Details in Hindi | Graphic Design Course Details in Hindi  

Fashion Designing Course Details in Hindi- अगर आप भारत में रहते हुए डिजाइनिंग का कोई कोर्स करना चाहते हो तो उसके लिए बेचलर ऑफ डिजाइनिंग यानि की B.Des का कोर्स सबसे बेहतरीन कोर्सों में से एक है जो कई स्ट्रीम्स में होता है। फैशन डिजाइनिंग के लिए भी बैचलर ऑफ डिजाइनिंग का कोर्स किया जा सकता है और इसमें फैशन डिजाइनिंग की स्टीम को चुना जा सकता है।

Fasion Designing स्टीम के साथ बैचलर ऑफ डिजाइनिंग का कोर्स काफी सारे सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों में किया जा सकता है। सरकारी कॉलेज में यह कोर्स करने के लिए आपको काफी कम फीस देनी होगी. लेकिन उसके लिए पिछली कक्षाओं में आपके परफॉर्मेंस अच्छी होना जरूरी है। इस कोर्स को एवरेज कॉलेज से करने के लिए 4 से 6 लाख रूपये तक की फीस लग सकती है।

फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद आप किसी क्लोथिंग ब्रांड में डिजाइनर के तौर पर काम करके अच्छे पैसे कमा सकते हो या फिर आप इस क्षेत्र में अपना व्यवसाय भी शुरू कर सकते हो। designing courses after 12th, designing courses list after 12th” यह कोर्स करने के बाद नौकरी में एवरेज सैलरी 40,000 रूपये मासिक मानी जाती हैं।

Graphic Design Course Details in Hindi | (B.Des) | Best Designing Course List- Full Details in Hindi

Designing Courses After 12thवर्तमान में उन क्षेत्रों में से एक है जिनमे अपनी Creativity के Passion को फुलफिल करते हुए काफी अच्छा खासा पैसा कमा सकते हो लेकिन इसके लिए आपको डिजिटल क्रिएटिविटी और डिजिटल डिवाइस का उपयोग करना आना चाहिए। आज के समय में काफी सारे ग्राफिक डिजाइनर एक फ्रीलांसर के तौर पर काम करके महीने के लाखों रुपए कमाते हैं.

और कंपनियों के साथ एक एंप्लॉय के तौर पर काम करने पर भी एक ग्राफिक डिजाइनर अच्छा पैसा बना सकता है। क्योकिं यह तकनीकी के क्षेत्र से तात्पर्य रखता है तो इसके लिए काफी सारे कोर्स मौजूद है लेकिन सबसे बेहतरीन कोर्स ग्राफ़िक डिजाइनिंग ही है जिसमें आप ग्राफिक डिजाइनिंग के स्टीम को चुन सकते हो। ग्राफ़िक डिजाइनर बनने के बाद अगर आप किसी अच्छी कम्पनी में काम करते हो

तो इसके लिए आपको औसतन 40,000 रुपये तक शुरूआती सैलरी मिल जाती हैं। ग्राफ़िक डिजाइनिंग करने के बाद आप एक फ्रीलांसर के तौर पर भी काम कर सकते हो करते हो।

Architecture Course Details in Hindi | B.Arch/B.Des in Interior | Furniture Design

Architecture Course Details in Hindi- वर्तमान में हमारे देश में कंस्ट्रक्शन का काम चरम सीमा पर है और आज के समय में सिविल इंजीनियरिंग हमारे देश में इस स्तर पर पहुंच चुकी है कि डिजाइनिंग के बिना काम संभव नहीं होता। इस वजह से देश में आर्किटेक्चर या फिर कहा जाए तो इंटीरियर और फर्नीचर डिजाइनर का काम काफी बढ़ चुका है। जैसे-जैसे क्षेत्र में डिमांड बढ़ेगी वैसे वैसे ही रोजगार के बेहतरीन अवसर भी पैदा होंगे

और लोगों को इस क्षेत्र में बेहतरीन रोजगार भी मिल सकेगा और शायद यही कारण है कि आज के समय में आर्किटेक्चर कोर्सेज को वर्तमान में Best Designing Courses List में रखा जाता हैं। डिजाइनिंग के क्षेत्र में आर्किटेक्चर का अपना एक अलग ही महत्व है क्योंकि इसके बिना कंस्ट्रक्शन का काम अधूरा माना जाता है। एक बेहतरीन आर्किटेक्चर कोर्स करने के बाद छात्र आर्किटेक्ट बनता है designing courses after 12th, designing courses list after 12th

और उसके बाद वह फ्रीलांसर के तौर पर व्यवसाय भी कर सकता है। आर्किटेक्ट बनने के बाद किसी अच्छी आर्किटेक्ट फर्म में जॉब लग कर अच्छा पैसा भी कमाया जा सकता है। इंटीरियर और फर्नीचर डिजाइनर के साथ भी ऐसा ही है। आर्किटेक्चर के क्षेत्र में जाने के लिए आप बीआर्क या फिर इंटीरियर और फर्नीचर डिजाइनिंग स्टीम के साथ Bachelor of Designing का कोर्स कर सकते हो

जिसके लिए आपको किसी बेहतरीन एवरेज कॉलेज में 4 से 5 लाख तक की फीस भरनी होगी और बाद में सैलरी भी अच्छी ही मिलेगी।

Animation Course Details in Hindi | (B.Des) Best Designing Course List- Full Details in Hindi

Animation Course Details in Hindi- एनिमेशन एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर डिजाइनर्स की मांग कभी कम नहीं होती। आज से कुछ सालों पहले तक यह एक फिजिकल क्षेत्र हुआ करता था और Drawing Experts अपने चित्रों के माध्यम से एनीमेशन क्रिएट करते थे लेकिन अब यह एक डिजिटल टास्क हो चुका है और कंप्यूटरों के माध्यम से एनीमेशन क्रिएट किया जाता है लेकिन क्रिएटिविटी आज भी उतनी ही चाहिए जितनी पहले चाहिए होती थी।

आज के समय में एनिमेशन में ना केवल बेहतरीन चित्रों का ध्यान रखना होता है बल्कि ग्राफिक्स भी अच्छे होने चाहिए। एक एनिमेशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद व्यक्ति मीडिया कंपनियों के साथ काम कर सकता है या फिर फ्रीलांसर के तौर पर काम करके भी अच्छा पैसा कमा सकता है। वर्तमान में भारत में एनिमेशन डिजाइनर बनने के लिए बैचलर ऑफ डिजाइनिंग (B.Des) में एनिमेशन के स्टीम को चुनकर पढ़ाई की जा सकती है।

इस कोर्स में स्टूडेंट एनीमेशन सॉफ्टवेयर के यूज के बारे में सीखते हैं और अपने क्रिएटिविटी के स्तर को और भी आगे बढाते हैं। “Animation Course Details in Hindi” भारत में किसी एवरेज कॉलेज में बेचलर ऑफ़ डिजाइनिंग में एनीमेशन स्टीम कोर्स करने के लिए आपको 4.5 लाख रूपये से लेकर 6 लाख रुपए तक की फीस भरनी पड़ेगी।

Industrial Design Course Details in Hindi | Product Design Course in Hindi Product Design | (B.Des)

Industrial Design Course Details in Hindi– आज के समय में पूरा बाजार कई प्रकार के प्रोडक्ट से भरा हुआ है और इन प्रोडक्ट्स को विभिन्न कंपनियां लॉन्च करती है तो ऐसे में प्रोडक्ट या फिर कहा जाए तो इंडस्ट्रियल डिजाइनर्स की मांग भी बाजार में काफी ज्यादा हैं। लगभग सभी कम्पनिया या फिर ब्रांड्स बाजार में अपना प्रोडक्ट लाने से पहले उसके डीजाइन पर काम करवाती हैं और आज के समय में तो डिजाइनिंग के बाद ही प्रोडक्ट के प्रोडक्शन पर काम शुरू किया जाता हैं।

Product Design Course in Hindi Product Design– वर्तमान में प्रोडक्ट डिजाइनर्स या फिर सरल भाषा में कहा जाये तो इंडस्ट्रियल डिजाइनर की काफी जयादा मांग हैं क्युकी अगर देखा जाये तो एक तरह से इनके बिना बाजार अधूरा हैं। कम्पनिया बिना प्रोडक्ट डिजाइन के प्रोडक्शन पर काम नहीं कर सकती और ऐसे में प्रोडक्ट डिजाइनर को एक अवधारणा तैयार करने के लिये काफी अच्छी खासी तनख्वाह भी देती हैं।

इस क्षेत्र में जाने के लिए आप इंडस्ट्रियल या फिर प्रोडक्ट डिजाइनिंग स्टीम के साथ B.Des का कोर्स किया जा सकता है। एक एवरेज कॉलेज में यह कोर्स करने के लिए आपको करीब 6 से 12 लाख रुपए खर्च करने होंगे लेकिन इसके बाद मिलने वाली सैलरी भी काफी बेहतर होती हैं। हमने यहाँ कुछ मुख्य डिजाइनिंग कोर्सेज की बात की। इसके अलावा जो अन्य डिजाइनिंग कोर्स किये जा सकते हैं, वो इस प्रकार हैं : “Best Designing Course List- Full Details in Hindi

  • B.Des in Jewellery/ Accessory Design
  • B.Des in Textile Design
  • B.Des in Ceramic and Glass Design
  • B.Des in Fashion Communication/ Communication Design

इन सभी कोर्स को किसी एवरेज कॉलेज से करने के लिए आपको कम से कम 4 लाख रूपये 5 लाख रूपये तक की फीस भरनी होगी। लेकिम इनमे से कोई से भी कोर्स आप मन लगाकर किसी बेहतरीन कॉलेज से करे तो अपने डिजाइनिंग के पैशन को फुलफील करते हुए इनसे जुड़े हुए क्षेत्रो में काफी अच्छा पैसा कमा सकते हो।

उम्मीद हैं की हमारा यह लेख आपको काफी पसंद आया होगा। इस लेख में हमने भारत मे किये जाने वाले बेहतरीन डिजाइनिंग कोर्सेज (Best Designing Course List- Full Details in Hindi) के बारे में बताया। अगर आपको इनमे से किसी भी कोर्स को लेकर या फिर इस लेख से जुड़ा हुआ कोई सवाल।हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं।

Best Python Language in Hindi 2021

Learn Java Programming Language in Hindi

Graphic Design Kya Hai?

ग्राफ़िक डिज़ाइनर कैसे बने

Best Designing Course List- Full Details in Hindi

B.Arch Course Details in Hindi & What is B Arch in Hindi

Leave a comment