BSc Course Full Details in Hindi | फीस | सैलरी

बीएससी कोर्स की पूरी जानकारी हिंदी में जाने 

BSc Course Full Details in Hindi- इस बात में कोई दो राय नहीं कि आज के समय में हमारे देश में लगभग सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए काफी सारे कोर्सेज मौजूद थे जो हमने विभिन्न प्रकार की करियर अपॉर्चुनिटीज के लिए योग्य बनाते हैं। इनमे से काफी कोर्स ऐसे हैं जिन्हें छात्र काफी अधिक प्रिफर करते हैं और यह कोर्स किसी स्पेसिफिक स्ट्रीम के छात्रों के लिए तैयार किए जाते हैं। एक ऐसा ही कोर्स B.Sc का कोर्स भी है। बीएससी का कोर्स वर्तमान में देश में सबसे अधिक किए जाने वाले वर्सेटाइल कोर्सेज में से एक है जैसे काफी सारी स्पेसिफिक सब्जेक्ट के साथ भी किया जा सकता है और इसे करने की मल्टीपल ऑब्जेक्टिव भी हो सकते हैं।

बीएससी का कोर्स मुख्य रुप से वह छात्र करते हैं जिन्होंने 12वी कक्षा साइंस स्ट्रीम से पास की हुई होती हैं। यह कोर्स उन कोर्सेज में से एक भी हैं जो बिना किसी खास एलिजिबिलिटी फॉर एंट्रेंस एग्जाम आदि के किसी भी सरकारी शिक्षण संस्थान में मेरिट बेस सिस्टम पर और निजी संस्थानो में मार्क्स के अनुसार किया जा सकता है। अगर आप बीएससी का कोर्स करना चाहते हो और आपके दिमाग में भी ऐसी को कोर्स को लेकर कोई भी सवाल है कि यह लेख आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होने वाला हैं क्योंकि इस लेख में हम आपको बीएससी कोर्स की पूरी जानकारी (BSc Course Full Details in Hindi) आसान भाषा मे देने वाले हैं।

बीएससी कोर्स का पूरा नाम क्या हैं? (What is B.Sc Full Form in Hindi)

किसी भी कोर्स के बारे में अधिक जाने से पहले उस कोर्स की फुल फॉर्म के बारे में आपको पता होना चाहिए। इस लेख में बीएससी कोर्स के बारे में विस्तार से बात करेंगे लेकिन इससे पहले आपको बीएससी की फुल फॉर्म बताना आवश्यक है। B.Sc Course की फुल फॉर्म Bachelor of Science (बैचलर ऑफ साइंस) हैं। वहीं अगर कोर्स की हिंदी फुल फॉर्म की बात की जाए तो वह विज्ञान के स्नातक होगी। यह कोर्स वर्तमान में देश में साइंस के छात्रों के द्वारा किए जाने वाले सबसे लोकप्रिय बैचलर डिग्री कोर्सेज में से एक है।

बीएससी कोर्स क्या हैं – What is BSc Course in Hindi (BSc Course Full Details in Hindi)

BSc कोर्स या फिर कहा जाए तो बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स विज्ञान के क्षेत्र में एक अंडरग्रैजुएट कोर्स होता है जिसमें उन सभी विषयों का गहराई से अध्ययन करवाया जाता है जो 12वीं कक्षा में साइंस के स्टूडेंट्स पढ़ते हैं। यह कोर्स उन छात्रों के लिए फाउंडेशन कोर्स भी माना जाता है जो साइंस के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। इस क्षेत्र में फिजिक्स, केमिस्ट्री, कंप्यूटर साइंस, बायोलॉजी, मैथेमेटिक्स और कई अन्य सब्जेक्ट्स को चुना जा सकता हैं। बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स को पार्ट टाइम और फुल टाइम परस्यू किया जा सकता है। इस कोर्स काफी सारे वह छात्र भी परस्यू करते हैं जो साइड हसल में किसी अन्य प्रॉफेशनल के लिए भी प्रिपरेशन कर रहे हैं। इस कोर्स को करने के बाद सीधे जॉब या फिर व्यवसाय किया जा सकता है और अगर चाहे तो High Studies के रूप में Master Course जैसे कि MSc आदि परस्यू किये जा सकते हैं।

बीएससी कोर्स कितने साल का होता हैं? BSc Course Duration in Hindi

बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स को करने से पहले आपको यह भी पता होना चाहिए कि है कोर्स कितने साल का होता है। साइंस और बायोलॉजिक को लेकर एक खास बात यह है कि इनमें से अधिकतर बेच रहे कोर्स 4 या 5 साल के होते हैं और काफी कम कोर्स ऐसे हैं जो अन्य सब्जेक्ट के कोर्स की तरह 3 साल के होते हैं और बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स उन्हीं कोर्सेज में से एक है। बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स 3 साल का होता है जिसमें या तो 6 सेमेस्टर हो सकते हैं या फिर स्टेट बोर्ड के अनुसार साल में एक बार एग्जाम हो सकती है।

BSc Course Eligibilities in Hindi “BSc Course Full Details in Hindi”

बीएससी कोर्स को करने के लिए पात्रता सबसे पहले तो जानकारी के लिए आपको यह बता दे कि बीएससी कोर्स साइंस स्टूडेंट के लिए देश में मौजूद सबसे वर्सेटाइल कॉटेज में से एक है जिसे काफी सारी स्पेसिफिक सब्जेक्ट और क्षेत्रों के साथ किया जा सकता है। बैचलर ऑफ साइंस की कोर्स जिस भी सब्जेक्ट या फिर ब्रांच के साथ किया जा रहा है उसके अनुसार इस की पात्रता निर्धारित की जा सकती है लेकिन मुख्य रूप से जो पात्रताए BSc Course के लिए निर्धारित की गई है, वह इस प्रकार है:

  • 12वी कक्षा साइंस से पास की होनी चाहिए।
  • 12वी कक्षा में कम से कम 50 प्रतिशत से लेकर 60 प्रतिशत तक मार्क्स आने चाहिए।
  • सरकारी शिक्षण संस्थान में बीएससी कोर्स करने के लिए मेरिट बेस सिस्टम का उपयोग किया जाता है तो वह सिलेक्शन के लिए कटऑफ के अनुसार नंबर आने चाहिए।
  • काफी सारे कॉलेजों में बीएससी कोर्स करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम भी देना पड़ सकता।

बीएससी कोर्स कैसे करें? BSc Course Kaise Kare (BSc Course Full Details in Hindi)

इस बात में कोई दो राय नहीं कि बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स वर्तमान में देश में सबसे अधिक किए जाने वाले अंडरग्रैजुएट साइंस कोर्सेज में से एक है जिसका एक मुख्य कारण यह भी है कि यह काफी सारे ब्रांचेज में बटा हुआ है। यह एक वर्सेटाइल कोर्स है जिसे कंप्यूटर से लेकर किसी भी एक स्पेशल एक स्पेसिफिक फील्ड की स्टडीज के साथ किया जा सकता है। बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले दसवीं का के अच्छे नंबर से पास करनी होगी और उसके बाद 11वीं कक्षा में साइट चुनना होगा और 12वीं कक्षा साइंस के साथ पास करनी। “BSc Course Full Details in Hindi”

बायोलॉजी और मैथमेटिक्स दोनों के छात्र ही यह कोर्स कर सकते हैं। कई मामलों में मैथमेटिक्स आने वाली मानी जाती है। अगर आप 12वीं कक्षा में 50 से 60% अंक या फिर से अधिक अंक प्राप्त कर लेते हैं तो आप किसी भी निजी शिक्षण संस्थान में आसानी से बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स के लिए एडमिशन करवा सकते हैं लेकिन अगर आप बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स के लिए किसी सरकारी शिक्षण संस्थान में जाना चाहते हैं तो वहां पर आपकी 12वीं कक्षा की परफॉर्मेंस काफी ज्यादा मायने रखेगी। दरअसल मुख्य रुप से कटऑफ सिस्टम के माध्यम से ही सरकारी शिक्षण संस्थानों में बीएससी कोर्स के लिए एडमिशन दिया जाता है तो वहां एडमिशन प्राप्त करने के लिए आपको 12वीं कक्षा में काफी मेहनत करनी होगी और अच्छा नंबर प्राप्त करने होंगे।

BSc कोर्स करने के लिए कितनी फीस लगती हैं?

अगर आप बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स करना चाहते हैं तो आपको यह भी पता होना चाहिए कि इस कोर्स को करने के लिए आप की कितनी फीस लगेगी? दरअसल बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स एक प्रोफेशनल कोर्स हैं और इसे करने के लिए आवश्यक फीस पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करती है कि आप कौन से शिक्षण संस्थान में और किस ब्रांच के साथ बैचलर ऑफ साइंस का कोर्स कर रहे हो। अगर आप किसी एवरेज शिक्षण संस्थान में यह कोर्स करते हो तो उसके लिए आपको 25 से 40 हजार रुपये तक कि फीस भरनी होगी।

BSc Course करने के बाद कितनी सैलरी मिलती हैं?

जिस तरह से बीएससी कोर्स को करने की फीस काफी हद तक शिक्षण संस्थान और उस ब्रांच पर निर्धारित होती है जिसके साथ आप बीएससी कोर्स करते हो उसी तरह से इसके बाद मिलने वाली सैलरी भी इन दोनों बातों पर निर्धारित होती है। “BSc Course Full Details in Hindi” इसके अलावा यह पूरी तरह से आपकी Skills और आपकी नौकरी पर भी डिपेंड करता है जो आप बीएससी कोर्स के बाद करोगे। उदाहरण के तौर पर आकर आप बेशर्म साइंस का कोर्स कंप्यूटर एप्लीकेशन ब्रांच के साथ करते हैं तो कोर्स करने के बाद आपको आसानी से 20 से 35 हजार रुपये तक की इनिशियल मंथली सैलरी मिल जाएगी।

Best Tourism Management Courses in India | सैलरी
M Tech Course Details in Hindi & What is M Tech in Hindi
Best Interior Designing Courses in India- BA, BSc & B.Arch
CA Course After 12th Details in Hindi- सैलरी & फीस

Leave a Comment